Affiliate Marketing kya hai, एफिलिएट मार्केटिंग से ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए? पूरी जानकारी हिन्दी में

एफिलिएट मार्केटिंग के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि आप इसे बड़े पैमाने पर कर सकते हैं। चलिए जानते है एफिलिएट मार्केटिंग क्या है और एफिलिएट मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए: एक सामान्य विक्रेता केवल एक कंपनी के प्रोडक्ट्स बेचता है। लेकिन एक एफिलिएट मार्केटर के रूप में आप कई अलग-अलग कंपनियों के प्रोडक्ट्स और सर्विसेज को प्रमोट कर सकते हैं और उनकी बिक्री से कमीशन कमा सकते हैं

चूंकि ई-कॉमर्स कंपनियां भारत में काफ़ी तेजी से बढ़ रहे है, ई-कॉमर्स साइटों ने अपने प्रोडक्ट्स की बिक्री में एफिलिएट की भूमिका एवं महत्त्व को समझा है। न केवल बड़ी ई-कॉमर्स साइटें बल्कि छोटी और मध्यम ई-कॉमर्स साइटें भी अपने स्वयं के एफिलिएट प्रोग्राम चलाते हैं

Affiliate Marketing kya hai, एफिलिएट मार्केटिंग से ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए? पूरी जानकारी हिन्दी में 1

मैंने अपना ब्लॉग “ContinueGyan” फरवरी 2018 में शुरू किया, लेकिन पहले 18 महीनों तक यानि डेढ़ साल तक कोई पैसा नहीं कमा सका। अगस्त 2019 में, मुझे संयोग से affiliate marketing के बारे में पता चला।

जब मैं एक वेबसाइट पर आर्टिकल पढ़ रहा था तो मैंने किसी प्रोडक्ट लिंक पर क्लिक किया, जिसने मुझे amazon की वेबसाइट पर ले गया। मैंने देखा कि amazon के URL में उस वेबसाइट का नाम भी है जिसके ज़रिये मैं amazon की साइट पर आया था।

इससे मुझे लगा कि जो वेबसाइट किसी विशेष प्रोडक्ट को refer कर रहा है, उसके बदले में वह कुछ कमीशन भी कमा सकता है। बाद में, मुझे पता चला कि जब कोई व्यक्ति आपके affiliate link के माध्यम से कोई प्रोडक्ट खरीदता है तो उस affiliate program की तरफ से आपको कमीशन मिलता है।

उदाहरण के लिए, आप अभी continuegyan.com पर हैं और अभी इस आर्टिकल को पढ़ रहे हैं, यदि आप amazon के किसी प्रोडक्ट के link पर क्लिक करते हैं तो आपको amazon की वेबसाइट पर redirect किया जायेगा और उस वेबपेज के URL में आप “continuegyan” का टैग देख सकते हैं।

How to Start With Affiliate Marketing in Hindi

एफिलिएट मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए?

लोग अब किसी चीज को सीखने के पारंपरिक/पुराने मॉडल पर भरोसा नहीं कर रहे है, वैश्विक स्तर पर बहुत बड़ी तकनीकी क्रांति हो रही है। दूसरों के बीच डिजिटल मार्केटिंग, कोडिंग, डिज़ाइन और मार्केटिंग बाजार में काफ़ी हलचल बढ़ गयी हैं, और इस लिस्ट में affiliate marketing भी शामिल है, जिसे किसी भी कॉर्पोरेट प्रोफेशनल को miss नहीं करना चाहिए।

affiliate marketing अपने यूज़र्स को किसी प्रोडक्ट को खरीदने के लिए सिफ़ारिश/recommend करने के बारे में है। जब भी कोई व्यक्ति आपके एफिलिएट लिंक का उपयोग करके कोई प्रोडक्ट खरीदता है, आप कुछ % कमीशन कमाते हैं

अलग-अलग affiliate program में कमीशन का % कम या ज्यादा हो सकता है जो किसी physical प्रोडक्ट पर 2% और किसी डिजिटल प्रोडक्ट पर 70% से शुरू हो सकता है।

जी हाँ, किसी physical प्रोडक्ट की तुलना में किसी digital प्रोडक्ट की affiliate marketing करना ज्यादा फायदेमंद है। लेकिन, physical प्रोडक्ट की तुलना में डिजिटल प्रोडक्ट की बिक्री/सेल्स भी कम है।

डिजिटल प्रोडक्ट्स जैसे – .PDF, .JPG, .PNG, .MP3, .MP4 जैसे digital files होते है या फिर किसी सॉफ्टवेयर की RAW File जैसे – .PSD, .CDR, .Ai, .EPS, .DWG, .DOCX, .XLSX, .ZIP, .RAR, .SVG, इत्यादि होते है।

एफिलिएट मार्केटिंग आपको बहुत सारे प्रोडक्ट्स की लिस्ट रखे बिना किसी प्रोडक्ट को बेचने में मदद करता है।

यह व्यापक रूप से performance based marketing के लिए जाना जाता है, इस प्रक्रिया में अन्य लोगों की सर्विसेज या प्रोडक्ट्स को ऑनलाइन प्रमोट कर कमीशन प्राप्त करना है। लेकिन यह परफॉरमेंस बेस्ड/आधारित है जिसमें प्रोडक्ट या सर्विस की बिक्री होने पर ही कमीशन दिया जाता है।

यह वो है, जिसे आप कह सकते हैं revenue sharing. आप किसी अन्य व्यक्ति या कंपनी के प्रोडक्ट को प्रमोट करने के लिए कमीशन प्राप्त करते हैं, प्रोडक्ट की बिक्री से कमाई गयी लाभ का एक छोटा हिस्सा प्राप्त करते हैं।

शुरू करने के लिए, आपको बस एक account बनाकर affiliate प्रोग्राम को join करना होगा। Join करने के बाद आपको एक affiliate link या URL मिलेगा जिसमें affiliate ID होगी, जिसका उपयोग आप किसी भी प्रोडक्ट को रेफर/प्रमोट करने के लिए कर सकते हैं।

इसके बाद आपको यह तय करना होगा कि अपनी वेबसाइट पर recommendation के साथ किन प्रोडक्ट्स या सर्विसेज को प्रमोट करने और फिर link को embed करने की आवश्यकता है।

एफिलिएट मार्केटिंग कैसे करें

आप ब्लॉग पोस्ट, ई-मेल, यूट्यूब और यहां तक कि फेसबुक के माध्यम से भी affiliate link को शेयर कर सकते हैं

कमीशन का पेमेंट आमतौर पर मासिक आधार पर दिए जाते हैं, लेकिन विभिन्न affiliate programs के terms & conditions अलग-अलग हो सकते है

Amazon प्रत्येक महीने के अंत के लगभग 60 दिन बाद affiliates को पेमेंट करता है, जबकि अन्य non-amazon affiliate programs में साप्ताहिक से लेकर तीन महीने तक कमीशन का पेमेंट किया जाता है। तो, यह पूरी तरह से इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस प्रकार के affiliate program में शामिल हैं

Amazon Vs. Non-Amazon

  • Amazon Affiliate Marketing Program

Amazon affiliate program में प्रोडक्ट्स की एक विशाल रेंज है, जिनमें से अधिकांश physical और कुछ digital ई-कॉमर्स प्रोडक्ट्स हैं जो विशेष रूप से विभिन्न क्षेत्रों में amazon की वेबसाइटों के माध्यम से बेचे जाते हैं।

अमेज़न दुनिया भर में 11 विभिन्न मार्केटप्लेस में 30 करोड़ से ज्यादा ग्राहकों के लिए लगभग 300 करोड़ से अधिक प्रोडक्ट्स बेचता है।

हालांकि, अमेज़ॅन के पास इन्फॉर्मेशनल प्रोडक्ट्स नहीं हैं, देखा जाये तो कमीशन भी काफ़ी कम है। अमेज़न की cookie duration केवल 24 घंटे की अवधि के लिए काम करता है और अमेज़न की terms of service बेहद सख्त/strict है।

  • Non-Amazon Affiliate Marketing Programs

दूसरे non-amazon affiliate मार्केटप्लेस में विभिन्न सर्विसेज और प्रोडक्ट्स की लिस्टिंग होती है जो आर्ट से लेकर म्यूजिक और किताबों से लेकर डिजिटल प्रोडक्ट्स तक, रोजगार एवं नौकरी जैसी सर्विसेज के लिए भी affiliate program होते है।

ये कुछ non-amazon affiliate programs जो भारत में पॉपुलर है –

  • Flipkart Affiliate
  • Optimise Media Network
  • Shopclues Affiliate Program
  • V Commission Affiliate
  • eBay Partner Network
  • Nearbuy Affiliate Program

अब प्लान यह है कि आप अपने टॉपिक/niche के अनुसार विभिन्न मर्चेंट्स से प्रोडक्ट लें और फिर एक content-rich ब्लॉग बनाये और affiliate marketing के साथ अपनी ऑनलाइन इनकम की शुरुआत करें

एफिलिएट मार्केटिंग कैसे फायदेमंद है?

एफिलिएट मार्केटिंग का cycle चार चरणों या चार प्रकार के लोगों के माध्यम से चलता है – व्यापारी/बिजनेसमैन, एफिलिएट, उपभोक्ता और बाद में लोगों के विशाल नेटवर्क में चला जाता है।

हालांकि, इसका सबसे बड़ा लाभ शुरुआती तीन पक्षों को जाता है जैसे कि प्रोडक्ट निर्माता, विक्रेता और एफिलिएट मार्केटर।

व्यापारी या निर्माता प्रोडक्ट को बनाने के लिए जिम्मेदार है। यह इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट्स बनाने वाली कोई कंपनी या किताब बेचने वाले या ऑनलाइन कोर्स बेचने वाला कोई व्यक्ति हो सकता है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि प्रोडक्ट कहां से आ रहा है, यह बाजार में बेचने लायक और व्यव्हार करने के लिए पर्याप्त योग्य होना चाहिए।

Affiliate marketer किसी प्रोडक्ट के मार्केटिंग और प्रचार में शामिल व्यक्ति या कई लोगो का एक ग्रुप दोनों हो सकते हैं। वे प्रकाशक/publisher, influencer या यहां तक ​​कि ऐसी एजेंसियां ​​हो सकती हैं जो कमीशन के रूप में कुछ हजार से लेकर लाखों और करोड़ों की डिमांड कर सकती हैं प्रोडक्ट की मार्केटिंग के लिए

वे अपने चैनल/ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से एक साथ कई प्रोडक्ट्स की मार्केटिंग कर सकते हैं और प्रोडक्ट खरीदने में संभावित ग्राहकों को आकर्षित कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए: एक मोबाइल एप्लिकेशन जो दर्शकों के बीच एक बहुत बड़ी हिट है, वह एक मोटी कमीशन के बदले में विभिन्न अन्य कंपनियों के Ads/विज्ञापनों को प्रदर्शित करने का प्रबंधन कर सकता है। अखबारों में एक स्पेशल Advertisement का सेक्शन होता है जहाँ वे ग्राहकों से इस सेक्शन पर अपने प्रोडक्ट/सर्विसेज की Ads लगाने के लिए मोटे पैसे लेते है।

वैकल्पिक रूप से, प्रोडक्ट की मार्केटिंग के असंख्य तरीके हैं

दूसरी ओर उपभोक्ता और नेटवर्क, इस चक्र/cycle को बढ़ावा देने के लिए जिम्मेदार हैं। किसी भी बिक्री के बिना, कोई रेवेन्यू जेनेरेट नहीं होगा, कोई कमीशन नहीं दिया जायेगा और मार्केटिंग की भी आवश्यकता नहीं होगी। इसलिए, एफिलिएट को हर संभव चैनल जैसे – सोशल मीडिया, डिजिटल बैनर, ब्लॉग और बहुत कुछ के माध्यम से प्रोडक्ट की मार्केटिंग करना चाहिए

एफिलिएट नेटवर्क किसी प्रोडक्ट निर्माता और एफिलिएट के बीच एक मध्यस्थ के रूप में कार्य करता है क्योंकि एफिलिएट मार्केटर एक विशाल नेटवर्क में किसी प्रोडक्ट की मार्केटिंग रणनीति या प्रचार को गहरा और व्यापक बनाने में मदद करती है।

एफिलिएट नेटवर्क यानि एक विशाल डेटाबेस जिसमें कई तरह के प्रोडक्ट्स होते हैं और एफिलिएट तब चुन सकता है कि कौन से प्रोडक्ट की मार्केटिंग करना है और कौनसा नहीं करना है।

जबकि आप एक व्यापारी या एफिलिएट मार्केटर दोनों बन सकते हैं – या तो प्रोडक्ट निर्माता बन सकते हैं और प्रोडक्ट की बिक्री से शेयर प्राप्त कर सकते हैं या एफिलिएट मार्केटर बन सकते हैं और एक निश्चित कमीशन प्राप्त कर सकते हैं, जो ऑनलाइन passive income करने का एक सुविधाजनक मार्ग है

तो क्या आप एफिलिएट मार्केटिंग करने की योजना बना रहे हैं? यहां भारत में चलने वाले टॉप 6 एफिलिएट प्रोग्राम हैं जिनके लिए आपको sign up करना होगा।

Amazon Associates – Amazon’s affiliate marketing program

भारतीय ई-कॉमर्स सेगमेंट में एक लीडर, यह हाई कमीशन रेट और हाई वेबसाइट कन्वर्शन रेट दोनों का दावा करता है। अमेज़ॅन से एक एवरेज ऑर्डर वैल्यू कमाना हर एफिलिएट मार्केटर का सपना है।

आपको केवल अपने वर्तमान अमेज़ॅन अकाउंट का उपयोग करके इस एफिलिएट प्रोग्राम के लिए साइन अप करना होगा, जहाँ आपको कुछ tools मिलेंगे। ये tools प्रोडक्ट रिसर्च और लिंक बिल्डिंग से संबंधित एफिलिएट मार्केटिंग प्रोसेस को आगे बढ़ाने में मदद करेंगे।

Affiliate Marketing kya hai, एफिलिएट मार्केटिंग से ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए? पूरी जानकारी हिन्दी में 2

SiteStripe toolbar आपको Amazon.in पर किसी भी पेज पर एक एफिलिएट लिंक बनाने में मदद करेगा, जिसे आप फेसबुक या अन्य सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर आगे शेयर कर सकते हैं।

अमेज़न की वेबसाइट पर डेस्कटॉप और मोबाइल बैनर्स की एक लिस्ट भी है, जिसका उपयोग कर आप प्रोडक्ट को प्रमोट करने, फोटो के साथ प्रोडक्ट लिंक जेनेरेट करने और click-through को प्रमोट करने के लिए अपने ब्लॉग के पोस्ट के भीतर एफिलिएट code को embed करने के लिए किया जा सकता है।

यह प्रोग्राम भारत में सबसे अच्छे एफिलिएट प्रोग्रामों में से एक है और आपके द्वारा प्रमोट किये जा रहे प्रोडक्ट की खरीद के अलावा ग्राहकों द्वारा खरीदे गए अन्य प्रोडक्ट के लिए भी अलग से कमीशन कमाने की अनुमति देता है

उदाहरण के लिए, यह अत्यधिक संभावना है कि एक ग्राहक आपके द्वारा प्रमोट किये जा रहे मोबाइल फोन और एक किताब खरीदता है, जो आपके द्वारा शेयर की गयी एफिलिएट लिंक से खरीदता है। ऐसे मामलों में, आप amazon को ट्रैफ़िक भेजने के बाद से दोनों प्रोडक्ट की बिक्री के लिए कमीशन प्राप्त करेंगे

आप खरीदे गए प्रोडक्ट के आधार पर, अमेज़ॅन के एफिलिएट प्रोग्राम के माध्यम से 0.3% से 12% तक कमीशन कमा सकते हैं

Flipkart Affiliate Program

भारत में सबसे अच्छे एफिलिएट प्रोग्रामों की पेशकश करने वाले शुरुआती ई-कॉमर्स खिलाड़ियों में से एक फ्लिपकार्ट पर sign up करने के लिए कोई पेमेंट चार्जेज की आवश्यकता नहीं होती है, यह बिलकुल फ्री है। आपको केवल वेबसाइट/ब्लॉग/सोशल मीडिया/मोबाइल ऐप से फ्लिपकार्ट पर ट्रैफ़िक भेजना है और प्रत्येक खरीद पर कमीशन कमाना है

affiliate marketing kya hai

यह recommend किया जाता है कि आप अपनी वेबसाइट पर customized कंटेंट तैयार कर डालेंगे जिससे रिस्क/जोखिम कम से कम होगा और high-rewards वाले प्रोडक्ट्स को प्रमोट कर अच्छी कमीशन कमाने का मौका मिलेगा

जब भी कोई यूज़र आपके द्वारा दिए गए एफिलिएट बैनर/लिंक पर क्लिक करता है और फ्लिपकार्ट की वेबसाइट से खरीदारी करता है, तो आप 2-18% तक कमीशन कमा सकते हैं

एक प्रमोशनल चैनल के रूप में एफिलिएट मार्केटिंग के शुरुआती प्रोग्रामों में से एक फ्लिपकार्ट में सटीक ट्रैकिंग, प्रोडक्ट्स की विशाल रेंज और समय पर पेमेंट जैसे कई कारण हैं, जो इसे भारत में सबसे अधिक डिमांड वाले एफिलिएट प्रोग्रामों में से एक बनाता है

V Commission Affiliate Network

V Commission 200+ ब्रांड और 18,000 से अधिक affiliates के साथ भारत का एक प्रमुख affiliate network है। VCommission पिछले 10 वर्षो से मार्केट में है और इसे performance based marketing के लिए जाना जाता है

यह भारत में सबसे पहले CPA नेटवर्क में से एक है जो कई मार्केटिंग उद्देश्यों को पूरा करता है। यह आपको लीड जनरेशन, ऐप इंस्टॉल कराने या ई-कॉमर्स सेल्स जनरेट करने के माध्यम से ऑनलाइन पैसा कमाने की अनुमति देता है

इसके अलावा, यह अपने नेटवर्क में कई टॉप क्लाइंट्स को रखने का दावा करता है जिसमें Myntra, Alibaba, Fiverr, Godaddy, Hostgator, Walmart, Amazon और Flipkart भी शामिल हैं।

How to Start With Affiliate Marketing in Hindi

V Commission नेटवर्क CPS, CPI, CPC और CPA ऑफर को एक साथ लाता है, जो expertise के कारण एफिलिएट कंपनियों को अधिक बिक्री उत्पन्न करने में मदद करता है। विशेष रूप से इस साइट के लिए न्यूनतम पेमेंट $ 100 डॉलर है जो महीने के अंत में एफिलिएट के बैंक खाते में जमा कर दिया जाता है

eBay Partner Network

यह एफिलिएट प्रोग्राम उन लोगों के लिए आदर्श है जो जल्दी पैसा कमाने की तलाश में हैं, क्योंकि यह किसी को भी सदस्यता देने की अनुमति देता है और यह मुफ्त भी है।

एक एफिलिएट मार्केटर को बस प्रोडक्ट्स को प्रमोट करना है और वह उनके द्वारा जेनरेट की गई प्रत्येक बिक्री पर कमीशन कमायेगा। इसके लिए प्रोडक्ट्स को ढूंढना, उसके एफिलिएट links को शेयर करना और कमीशन कमाना है।

How to Start With Affiliate Marketing in Hindi

इस एफिलिएट प्रोग्राम का मुख्य आकर्षण यह है कि यह किसी individual व्यक्ति और व्यावसायिक संगठन दोनों को कमीशन कमाने की अनुमति देता है और जिसका पेमेंट भी काफ़ी अच्छा है। विशेष रूप से, एक एफिलिएट 12% तक कमीशन कमा सकता है

आपको बता दे इस एफिलिएट प्रोग्राम द्वारा जेनरेट की गयी URL की वैलिडिटी 1 साल है और उपयोग किए जाने वाले टूल्स में API और ऐड ग्रुप्स शामिल हैं।

Optimise Media Affiliate Network

ऑप्टिमाइज़ व्यापक रूप से OMG इंडिया के रूप में जाना जाता है, यह 30+ देशों में वैश्विक कवरेज के साथ भारत के टॉप एफिलिएट नेटवर्क में से एक है

affiliate marketing se paise kaise kamaye

बेहतर ग्राहक सेवा और परफॉरमेंस तकनीक से लैस इसकी पहुँच रिटेल, ट्रेवल्स, ऑटोमोटिव, टेलीकॉम और फाइनेंस जैसी श्रेणियों में अधिक हैं।

ऑप्टिमाइज़ के कुछ लोकप्रिय भारतीय विज्ञापनदाताओं में PayTM, CitiBank, Yatra, Redbus और Airtel शामिल हैं। वर्तमान में, वे 30 देशों में 1400+ प्रीमियम विज्ञापनदाताओं को सपोर्ट करते हैं।

ऑप्टिमाइज़ द्वारा जेनरेट किये गए URL की वैलिडिटी 8 साल 10 महीने है और इस एफिलिएट प्रोग्राम में शामिल होने के लिए कोई फीस/चार्जेज नहीं है। कोई भी व्यक्ति इस एफिलिएट प्रोग्राम से जुड़कर ऑनलाइन इनकम कर सकता है

Shopclues Affiliate Program

हाल के वर्षों में भारत में लॉन्च किए गए कई ई-कॉमर्स पोर्टलों में से ShopClues सबसे सफल में से एक रहा है। यह कंपनी 2011 में सामने आई और इसके बाद के वर्षों में इसने 5 करोड़ से अधिक ग्राहकों को सर्विस दिया। ऑनलाइन मार्केटप्लेस इलेक्ट्रॉनिक्स से लेकर पुरुषों और महिलाओं के फैशन से लेकर स्पोर्ट्स गुड्स तक कई तरह के प्रोडक्ट्स बेचता है।

How to Start With Affiliate Marketing in Hindi

शॉपक्लूज ने न केवल अपने प्रोडक्ट्स और उनकी pricing के लिए, बल्कि अपने एफिलिएट प्रोग्राम के लिए भी बहुत प्रशंसा पाई है। ShopClues के एफिलिएट मार्केटिंग प्रोग्राम अन्य वेबसाइटों और ब्लॉगों के रेफरल पर आधारित होते हैं और एफिलिएट न केवल पैसा कमा सकते हैं, बल्कि इन प्रोग्राम्स के लिए प्रतिष्ठा भी प्रदान करते हैं।

संभावित एफिलिएटस ShopClues में शामिल हो सकते हैं बिना कोई पैसा खर्च किए। बस ShopClues वेबसाइट पर साइन अप करें और आप ShopClues पर उपलब्ध प्रोडक्ट्स, ऑफ़र, deals और डिस्काउंट को प्रमोट करने के लिए स्वतंत्र हैं।

एक एफिलिएट ShopClues के प्रोडक्ट्स और ऑफर्स के प्रचार/प्रमोशन के लिए जिम्मेदार हैं। जब भी कोई विज़िटर किसी एफिलिएट पेज के माध्यम से ShopClues वेबसाइट पर redirect होता है और ग्राहक बन जाता है, इससे एफिलिएट कमीशन कमाता है

How to Start With Affiliate Marketing in Hindi

ऐसी कोई बाध्यता नहीं है कि एफिलिएट को ShopClues के प्रोडक्ट्स और ऑफर्स को केवल full-version वेबसाइटों पर प्रमोट करना है। ShopClues एफिलिएट प्रोग्राम मोबाइल प्लेटफॉर्म का भी सपोर्ट करता है और इसलिए, यह उन सदस्य/एफिलिएटस के लिए चीजों को आसान बनाता है जिनके पास मोबाइल प्रमोशन का ऑप्शन भी है।

एफिलिएट प्रत्येक conversion का एक statistical analysis भी देख सकते हैं, जो एफिलिएट मार्केटिंग स्ट्रेटेजी के लिए आवश्यक परिवर्तनों की पहचान करने का एक शानदार तरीका है।

ShopClues अपने एफिलिएट प्रोग्राम में आवेदन/apply करने के लिए कई तरह की वेबसाइटों का स्वागत करता है। ये कई तरह के ऑफर प्रदान करता है एफिलिएट अपनी साइट को प्रोडक्ट्स के लिंक और ShopClues वेबसाइट पर उपलब्ध ऑफ़र के साथ जोड़ सकते हैं।

ShopClues affiliate program के तहत शॉपक्लूज़ पर विभिन्न प्रोडक्ट्स, डील्स और डिस्काउंट की पेशकश के लिंक शेयर करने के लिए अविश्वसनीय रूप से आसान हैं, जो इस प्लेटफॉर्म को भारत में सबसे अच्छे एफिलिएट प्रोग्राम्स में से एक बनाता है

Nearbuy Affiliate

Nearbuy जैसा कि नाम से ही पता चलता है, यह एक लोकल डिस्कवरी प्लेटफॉर्म है और भारत में अपनी तरह का पहला है। यह वह जगह है जहां लोग अपने आस-पास पाए जाने वाले प्रोडक्ट्स और सर्विसेज को खोजना चाहते हैं। जब खाने के लिए रेस्टुरेंट, या पार्टी आयोजित करने के लिए एक जगह की तलाश होती है, तो साइट अपने यूज़र्स को suggestions देती है।

affiliate marketing kya hai

भारत में चलने वाले सबसे अच्छे एफिलिएट प्रोग्राम्स में से एक साथ ही यह एक इंडियन लाइफस्टाइल एप्प भी है, आपको अपने nearbuy affiliate link को प्रमोट करने के लिए एक कंटेंट प्लान बनाना होगा।

इस साइट पर sign up करना बिलकुल मुफ़्त है और आप अपने द्वारा शेयर किये गए nearbuy affiliate link से होने वाली बिक्री से कमीशन कमा सकते हैं

इस साइट की पहुंच भारत के 35 शहरों तक है, नियरबाय CPS (Cost per Sale) पर आकर्षक कमीशन प्रदान करता है। हर बिक्री जो एक एफिलिएट लिंक के माध्यम से की जाती है उसका कमीशन वेबसाइट/कंपनी द्वारा दिया जाता है

अपने आस-पास की दुनिया का अनुभव जैसे – रेस्तरां, स्पा, सैलून इत्यादि के ऑफर्स नियरबाय पर प्राप्त करें और लगभग 8% तक प्रति बिक्री पर कमीशन कमाए। आप दिए गए लिंक के माध्यम से नियरबाय एफिलिएट प्रोग्राम से जुड़ सकते हैं

यह भारत में एफिलिएट मार्केटिंग इंडस्ट्री के food & grocery की श्रेणी में अपने हाई एफिलिएट कमीशन के कारण टॉप एफिलिएट प्रोग्राम्स में से एक है

नोट – छोटे एफिलिएट मार्केटिंग प्रोग्राम्स के साथ काम न करें, जिसमें लोगों के लिए इस्तेमाल करने लायक प्रोडक्ट्स नहीं हो सकते हैं, non-standard terms and conditions और जो कि अत्यधिक अविश्वसनीय हो सकते हैं।

एफिलिएट मार्केटिंग करने के विभिन्न तरीके क्या है?

How to Start Affiliate Marketing in Hindi

Affiliate Marketing kya hai, एफिलिएट मार्केटिंग से ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए? पूरी जानकारी हिन्दी में 3

1) अपना ब्लॉग / वेबसाइट के माध्यम से प्रोडक्ट की प्रमोशन करना

किसी भी niche के बावजूद, ब्लॉग पाठकों के साथ बहुत अधिक विश्वास पैदा करते हैं और प्रोडक्ट्स को प्रमोट करने का सबसे आसान और बेसिक तरीका है। जिन ब्लॉग्स की रिव्यु पोस्ट अच्छी कंटेंट के साथ होती है, उनमें क्लियर हेडलाइंस, recommendation और लिंक्स होते हैं, जो एफिलिएट मार्केटिंग शुरू करने का एक शानदार तरीका है

2) यूट्यूब चैनल बनाकर वीडियो के माध्यम से एफिलिएट मार्केटिंग करना

60 करोड़ घंटे से भी अधिक वीडियो की monthly viewers के साथ यूट्यूब इंटरनेट का दूसरा सबसे पॉपुलर प्लेटफॉर्म हैYouTube के माध्यम से एफिलिएट मार्केटिंग वीडियो बनाना और वीडियो के डेस्क्रिप्शन में एफिलिएट लिंक लगाना शामिल है

3) ईमेल के द्वारा एफिलिएट मार्केटिंग करना

ईमेल मार्केटिंग के माध्यम से एफिलिएट मार्केटिंग में पर्सनल recommendation के आधार पर किसी प्रोडक्ट को सेल करने की उच्चतम क्षमता होती है। ईमेल मार्केटिंग कैंपेन को बहुत अधिक बिक्री की उम्मीद के बिना call to action के लिए एफिलिएट लिंक के साथ न्यूज़ लेटर/ईमेल भेजने की आवश्यकता होती है

4) सोशल मीडिया के माध्यम से एफिलिएट मार्केटिंग करना

जनवरी 2019 तक, फेसबुक के पास दुनिया भर में 230 करोड़ monthly active users थे। लोगों तक पहुंच और engagement के साथ, फेसबुक आपको पोस्ट और विज्ञापनों के माध्यम से अपनी ऑनलाइन उपस्थिति बनाने में मदद करता है जिसके परिणामस्वरूप एफिलिएट सेल्स/बिक्री होती है

2020 में 340 करोड़ सोशल मीडिया यूज़र्स हैं जो मार्केटर्स को ब्लॉग या वेबसाइट की आवश्यकता के बिना ऑनलाइन पैसा कमाने का अवसर प्रदान करता है। एफिलिएट मार्केटिंग की अनुमति/परमिशन देने वाले सोशल मीडिया चैनलों में फेसबुक, इंस्टाग्राम, पिनटेरेस्ट, क्वोरा, ट्विटर और व्हाट्सएप ग्रुप शामिल हैं।

क्यों अन्य ब्लॉग monetization के अलावा एफिलिएट मार्केटिंग को चुनें?

क्योंकि एफिलिएट मार्केटिंग :

  • कोर्सेज, डिजिटल प्रोडक्ट्स या ई-बुक्स बनाने के लिए आवश्यक समय और प्रयास बचाता है।
  • प्रोडक्ट्स को प्रमोट करने के लिए एक ईमेल लिस्ट, लीड मैगनेट और लैंडिंग पेज को बनाने की आवश्यकता नहीं है।
  • ब्लॉग पर irrelevant ads को दिखाने और ट्रैफ़िक को अपने ब्लॉग से दूर करने की कोई आवश्यकता नहीं है।
  • स्पॉन्सर्ड लिंक्स को मैनेज करने की परेशानी से आपको दूर रखता है।

Conclusion

मार्केटिंग, यह ऑफलाइन हो या ऑनलाइन सभी में जरुरी है। अच्छी बिक्री हमेशा आक्रामक और कुशल मार्केटिंग का परिणाम होती है जिसमें कंपनियां अधिक लीड, ट्रैफ़िक और निश्चित रूप से बिक्री का लाभ उठाती हैं।

चूंकि इंटरनेट अब हमारी नई दुनिया है, इसलिए इसके माध्यम से मार्केटिंग जिसे एफिलिएट मार्केटिंग के रूप में जाना जाता है इसने तेजी से गति प्राप्त की है और आने वाले वर्षों में एफिलिएट मार्केटिंग और भी शिखर पर होगा

अगर इस आर्टिकल में कोई जानकारी छूट गयी है या गलत है तो मुझे कमेंट के माध्यम से बताएं। मैं आपकी प्रतिक्रिया के अनुसार आर्टिकल को अपडेट करूंगा। अगर आप एफिलिएट मार्केटिंग के विषय पर मेरे द्वारा दी गयी जानकारी से संतुष्ट है तो कृपया कर इसे आगे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे ताकि वे भी इंटरनेट पर मौजूद एफिलिएट मार्केटिंग के बारे में जान सकें और ऑनलाइन इनकम कर सकें। धन्यवाद् …

2 thoughts on “Affiliate Marketing kya hai, एफिलिएट मार्केटिंग से ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए? पूरी जानकारी हिन्दी में”

  1. Great post. I used to be checking constantly this weblog and I’m inspired!
    Very useful info specially the last part 🙂 I care for such info much.
    I used to be seeking this particular info for a long time.

    Thank you and best of luck.

    1. Thank you, for your appreciation. i am glad to know that you are satisfied with the information provided in this article.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *