2021 में अमेज़न सेलर कैसे बनें? अमेज़न पर ऑनलाइन सामान कैसे बेचें?

ऑनलाइन ईकॉमर्स मार्केटप्लेस के युग में अगर आप ये जानना चाहते है कि अमेज़न सेलर कैसे बने / ऑनलाइन बिज़नेस कैसे करे? तो आप बिलकुल सही जगह पर आये है, यहाँ हम आपको बताएँगे कि अमेज़न पर अपना सामान कैसे बेचें। यदि आप अमेज़न इंडिया पर बिक्री शुरू करना चाहते हैं, तो हम आपको बता सकते हैं कि कैसे सेट अप किया जाए और चल रहे मार्केट को कैसे हिट करें।

भारत दुनिया के सबसे बड़े देशों में से एक है और 130 करोड़ से अधिक आबादी के साथ, ई-कॉमर्स ब्रांडों के लिए एक शानदार अवसर है जो एक नए बाजार में प्रवेश करना चाहते हैं। आज के पोस्ट में हम जानेंगे कि amazon seller kaise bane / how to start business with amazon in hindi

amazon seller kaise bane

भारत में ई-कॉमर्स की डिमांड आसमान छू रही है, 2017 की तुलना में ऑनलाइन रिटेल रेवेन्यू 2060 करोड़ डॉलर से दोगुना होने की संभावना है जो कि 2020 में 4080 करोड़ डॉलर है। यह वृद्धि भारत में 56 करोड़ से अधिक एक्टिव इंटरनेट यूज़र्स द्वारा खरीदारी की है, जो ऑनलाइन deals, products और online services के लिए सर्च कर रहे हैं।

4 Steps में अमेज़न इंडिया पर अपना सामान बेचें

Step 1: यह तय करें कि आप अमेज़न पर क्या बेचने जा रहे हैं

अमेज़न इंडिया पर तीन लाख से अधिक sellers हैं, जिनमें से प्रत्येक अपने खुद के अनोखे ब्रांड्स और प्रोडक्ट्स के साथ हैं। ऐसा जरुरी नहीं कि Amazon US पर जो टॉप सेलर प्रोडक्ट है वो Amazon India पर भी टॉप सेलर प्रोडक्ट होगा।

यदि आप अमेज़न पर प्रत्येक केटेगरी में टॉप ट्रेंडिंग प्रोडक्ट्स को जानना चाहते हैं, तो बस अमेज़न इंडिया के Best sellers सेक्शन पर जाएँ। यहां से, वह केटेगरी ढूंढें जिसमें आप रुचि रखते हैं और टॉप परफॉर्मर्स की लिस्ट को देखें।

क्या आपके पास टॉप सेलर्स की तुलना में कोई प्रोडक्ट है? क्या आपके प्रोडक्ट टॉप-सेलिंग प्रोडक्ट की बराबरी करते हैं? एक बार जब आप यह निर्धारित कर लेते हैं कि आप किस श्रेणी में प्रवेश करने जा रहे हैं, और कौन से प्रोडक्ट टॉप पोजीशन पर हैं, तो यह review करना महत्वपूर्ण है कि आपकी अपनी प्रोडक्ट क्या है

Step 2: अमेज़न इंडिया की वेबसाइट पर रजिस्टर करें

इससे पहले कि आप रजिस्ट्रेशन करें, आपको किस प्रकार के बिज़नेस पर काम करना है, इसके आधार पर आपके कुछ जरुरी डॉक्युमेंट्स को इकट्ठा करना होगा।

यदि आप एक individual के तौर पर amazon पर अपना सामान बेचना चाहते है, तो आपको इन डॉक्युमेंट्स की आवश्यकता होगी:

  • PAN number
  • GST Registration number
  • Bank account number
  • Contact number
  • Email ID

और यदि आपका कोई commercial स्टोर है या आप एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी चलाते है तो आपको इन डॉक्युमेंट्स की आवश्यकता होगी:

  • Company’s Bank Account Number
  • GST Registration number
  • Bank Account Number
  • Contact number
  • Copy of Certificate of Incorporation
  • Copy of Memorandum of Association
  • Email ID

यदि आपके पास GST नंबर नहीं है तो दिए गए link के माध्यम से Cleartax की वेबसाइट पर GST Registration के लिए आवेदन कर सकते है। Cleartax के साथ Amazon की पार्टनरशिप के तहत यह सुविधा सिर्फ Amazon sellers के लिए उपलब्ध है।

एक बार जब आपके पास सभी जरुरी डॉक्युमेंट्स हों, तो निर्धारित स्टेप्स का पालन करके अमेज़न की Official seller central portal पर रजिस्ट्रेशन करें।

register on amazon seller central

ध्यान दें कि एक Sole proprietor/Individual की तुलना में एक PLC (Private Limited Company) के रूप में रजिस्ट्रेशन करना आपके लिए समय के साथ बड़े पैमाने पर बेहतर अवसर प्रदान करेगा।

Step 3: अमेज़न इंडिया स्टोर में अपने प्रोडक्ट्स को add करें

आप अपने प्रोडक्ट्स को अमेज़न इंडिया के Seller central portal पर अपलोड कर सकते हैं। आप उन्हें एक बार में या एक बड़ी प्रोडक्ट्स लिस्ट के हिस्से के रूप में भी अपलोड कर सकते हैं।

अपने शुरूआती प्रोडक्ट को अमेज़ॅन इंडिया की वेबसाइट पर listing करें, लेकिन अपने सभी प्रोडक्ट्स को एक बार में listing न करें। अपने बेस्ट प्रोडक्ट्स या अमेज़न पर top selling प्रोडक्ट्स की बराबरी करने वाले प्रोडक्ट को सबसे पहले listing करें, फिर धीरे-धीरे आगे विस्तार करें।

  • अमेज़न इंडिया स्टोर में प्रोडक्ट को listing करने के लिए इन steps को फॉलो करें:

अपने Amazon seller central account के inventory tab में जाएं और upload के माध्यम से Add a product पर क्लिक करें।

add product to amazon

चेक करें कि आपके प्रोडक्ट की लिस्टिंग पहले से ही amazon पर मौजूद है या नहीं। यदि आपका कोई नया प्रोडक्ट है जो amazon पर पहले से नहीं है, तो एक नया प्रोडक्ट listing करने के लिए Add a product बटन पर क्लिक करें।

ध्यान दे- category सेलेक्ट करते समय सावधानी से चुनें, क्योंकि एक बार आपका details page बनने के बाद उन्हें edit करना संभव नहीं है। फिर दिए गए टैब में प्रोडक्ट की जानकारी भरें जैसे: Product name, Vital Info, Price, Offer, Images, Description, Keywords इत्यादि।

  • एक साथ कई प्रोडक्ट्स की listing करने के लिए, इन steps को फॉलो करें:
add bulk product to amazon

अपने Amazon seller central account के inventory tab में जाएं और upload के माध्यम से Add a product पर क्लिक करें। उन प्रोडक्ट्स की categories पर क्लिक करें जिन्हें आप अपलोड कर रहे हैं और उपयुक्त excel file को डाउनलोड करें।

add bulk product to amazon
add bulk product to amazon

डाउनलोड की गई excel फाइल को खोलें। इसमें प्रति प्रोडक्ट की उचित जानकारी भरें, इस पर विस्तृत step by step निर्देश होना चाहिए।

add bulk product to amazon excel sheet
add bulk product to amazon excel sheet

जब एक्सेल फ़ाइल पर आपका काम पूरा हो जाए तो अपने Amazon.in के seller account में वापस जाएं, Inventary tab > Add a product पर क्लिक करें, और Upload your inventory file टैब के माध्यम से, File type पर जाएं और Inventory files को सेलेक्ट करें।

upload bulk products to amazon through excel sheet
upload bulk products to amazon through excel sheet

अपलोड करने के लिए अपनी तैयार एक्सेल फाइल को सेलेक्ट करें। अपलोड प्रक्रिया में कुछ समय लग सकता है।
आपको एक कन्फर्मेशन मैसेज प्राप्त होगा जो बताता है कि आपके प्रोडक्ट्स अपलोड हो चुके है। बहुत बढ़िया!

Step 4: अमेज़न इंडिया में FBA के लिए साइन अप करें

जब आप अमेज़न जैसे ऑनलाइन मार्केटप्लेस पर अपना सामान बेचने जा रहे है तो ज़ाहिर है आप इस चिंता में होंगे कि डिलीवरी/Shipping प्रक्रिया और खर्चो का प्रबंधन कैसे किया जाए, तो इसके बारे में ज्यादा परेशान होने की जरुरत नहीं है क्योंकि अमेज़ॅन का FBA (Fulfilled by amazon) सर्विस Shipping करने का एक शानदार तरीका है। अमेज़ॅन FBA पर Signup करने के लिए आपको बस इतना करना है:

अपने amazon seller central की वेबसाइट पर जाये और Services टैब पर क्लिक करें और Fulfilled by amazon पर क्लिक करें। एक बार जब नया पेज लोड हो जाये तब स्क्रीन के bottom right corner में Enroll for FBA today बटन पर क्लिक करें।

आपको एक नए एप्लीकेशन फॉर्म पर Redirect किया जाएगा। आवेदन प्रक्रिया को पूरा करने के लिए जरुरी डिटेल्स भरें और सबमिट करें। एक बार जब आप आवेदन कर देते हैं, तो Amazon FBA टीम का कोई व्यक्ति आपके पास पहुंच जाएगा और आपको अपने ऑनलाइन बिज़नेस को शुरू करने में गाइड करेगा।

अमेज़ॅन इंडिया उन ब्रांडों के लिए एक हॉट मार्केट है जो बहुत सारे बिक्री की लक्ष्य के साथ नए क्षेत्र में प्रवेश करना चाहते हैं।

अमेज़न दुकानदारों और सेलर्स दोनों के लिए एक पॉपुलर प्लेटफॉर्म है। सेलर्स की बढ़ती मांगों का सामना करने के लिए, अमेज़न ने अपना FBA Service शुरू किया। यह सर्विस सेलर्स को अपने व्यावसायिक सपने को साकार करने के लिए प्लेटफॉर्म के विशाल डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क और कस्टमर बेस का लाभ उठाने की अनुमति देती है। खुदरा सेलर्स के लिए, यह प्लेटफॉर्म का सबसे पॉपुलर ऑप्शन है।

ग्राहकों के ऑर्डर आते ही आपके मोबाइल पर एक मैसेज आता है, फिर उसके बाद deliver किए जाने वाले प्रोडक्ट्स की पैकिंग करके और इनवॉइस लगाकर तैयार करें और दिए गए समय के अंदर अपने प्रोडक्ट्स को अमेज़ॅन वेयरहाउस में भेजें या अमेज़न FBA team का कोई व्यक्ति आपके पते पर पहुँचकर वह पैकेज ले जाता है।

जब ग्राहक कोई सामान ऑर्डर करता है, तो अमेज़ॅन FBA उस ऑर्डर को पूरा करेगा और ग्राहकों को सभी आवश्यक शिपिंग और ट्रैकिंग जानकारी भेजेगा। अमेज़न का 24×7 ग्राहक सेवा/Customer Service सेलर्स और ग्राहकों दोनों के लिए उपलब्ध है।

एक सेलर के रूप में आप इन्वेंट्री और शिपिंग से जुड़ी प्रक्रियाओं से मुक्त होंगे। इस सर्विस का फायदा यह है कि आपके लिए अमेज़न पर ऑनलाइन बिज़नेस शुरू करना बहुत ही आसान होगा। अमेज़ॅन का मजबूत FBA मॉडल आपको अपने बिज़नेस को विश्व स्तर पर ले जाने की भी सुविधा प्रदान करता है यानि आप अपना प्रोडक्ट इंटरनेशनल लेवल पर विदेशों में भी बेच सकते है।

एक बात का ध्यान रखें कि एक सेलर के रूप में आप यह चुन सकते हैं कि अपने किस प्रोडक्ट की शिपिंग FBA के माध्यम से करना चाहते हैं। कुछ मामलो में ऐसा हो सकता है कि आपके कुछ प्रोडक्ट्स के लिए FBA का उपयोग करना लाभदायक हो सकता है और कुछ के लिए नहीं। यह पूरी तरह से आपके प्रोडक्ट पर निर्भर करता है कि आप अमेज़न पर क्या बेचने जा रहे है।

आइए इसे एक उदाहरण के द्वारा समझते है: मान लीजिये आप एक प्रोडक्ट बेचने जा रहे है जिसका नाम है ‘Product XYZ’। इस प्रोडक्ट की लागत मूल्य Rs. 200 है (मैन्युफैक्चरर से आपको जो कीमत मिल रही है) और आपके रिसर्च के अनुसार आप इसे अमेज़न पर Rs. 350 में बेच सकते है। मान लीजिये आपका यह प्रोडक्ट एक छोटे आकार का आइटम है (<400g) जिसे पूरे देश में भेजा जा सकता है और यह एक स्पेशल केटेगरी का आइटम है, उदाहरण के लिए मान लीजिये यह एक बेबी केयर प्रोडक्ट है।

तब अमेज़न FBA (Fulfillment by Amazon) के माध्यम से आपके प्रोडक्ट की shipping charges कुछ इस तरह होगी:

  • Closing fee – 15% of selling price अगर आप Rs. 350 में प्रोडक्ट बेच रहे है तब उसका 15% यानि Rs. 53
  • Packaging and handling fee – Rs. 55

कुल मिलाकर आपका Total FBA charges Rs. 108 होते है जिसे आपको amazon को चुकाना है, अब इसमें आपका मुनाफा इस प्रकार है:

200+108 = 308 रुपये आपका इन्वेस्टमेंट

350-308 = 42 रुपये आपका प्रॉफिट/मुनाफा

यदि यह आपकी मार्केटिंग और अन्य खर्चो को पूरा करने के लिए पर्याप्त है और फिर भी आपको एक अच्छा मार्जिन मिल जाता है, तब FBA के माध्यम से शिपिंग करना आपके लिए बेहतर होगा।

और यदि यह आपके अन्य खर्चो जैसे पैकिंग और Invoice printing वगैरह को पूरा करने के लिए पर्याप्त नहीं है, तो अपने लेवल से किसी third party courier service के माध्यम से प्रोडक्ट की delivery करने की तरीको का पता लगाना बेहतर होगा।

अमेज़न पर बिक्री शुरू करने के लिए आपको कितने पैसे की आवश्यकता है?

यह बहुत से अलग-अलग कारकों पर निर्भर करता है जैसे कि आपका प्रोडक्ट क्या है, उसकी कीमत कितनी है उसी हिसाब से आपको प्रोडक्ट का स्टॉक रखना है। लेकिन अमेज़न पर बिज़नेस करने के लिए आपके पास एक कंप्यूटर या लैपटॉप, प्रिंटर और आपके प्रोडक्ट के साइज के अनुसार पैकिंग मैटेरियल्स होना चाहिए। पैकिंग मैटेरियल्स आप अमेज़न से ही खरीद सकते है।

मार्केटिंग के लिए एक बिज़नेस प्लान बनाए

अमेज़ॅन पर बिज़नेस शुरू करने के लिए आपके प्लान के मुताबिक सब कुछ चल रहा है या नहीं ये सुनिश्चित करने के लिए एक योजना होनी चाहिए। एक बिज़नेस प्लान में आपके बिज़नेस मिशन, मार्केट एनालिसिस, प्रोडक्ट की मार्केटिंग, बिक्री और फाइनेंसियल प्लानिंग आदि शामिल होनी चाहिए।

बहुत सारी चीजें हैं जो आपको जानना जरूरी हैं। आपको बाजार पर रिसर्च करना होगा, ट्रेंड्स की जांच करनी होगी, अपने प्रतियोगियों को जानना होगा और यह पता लगाना होगा कि आप किस तरह के प्रोडक्ट्स को बेचना चाहते हैं, प्रोडक्ट सोर्सिंग, मार्केटिंग और प्रचार पर कितना खर्च करना चाहते हैं। अपने व्यावसायिक कार्यक्रम, और व्यावसायिक गतिविधियों के लिए विस्तार से एक प्लान बनाने की कोशिश करें।

मार्केट रिसर्च शुरू करें

एक बार जब आप अपने प्रोडक्ट और niche का निर्धारण करते हैं, तो आपको इसे मार्केट रिसर्च के साथ बाजार पर वेरीफाई करना होगा। समय-समय पर अपने प्रतिद्वंद्वियों की बिक्री पर नज़र रखें। अपने प्रतिद्वंद्वियों पर नज़र रखने से आपको मार्केट, सेगमेंट या niche से जुड़ी अधिक जानकारियां मिलेंगी।

यदि आप देखते हैं कि बिक्री की संख्या बाजार में लगातार है, तो आप अपनी योजना को अगले चरण/step पर ले जा सकते हैं। एक स्थिर/stable मार्केट में अपनी योजना के आधार पर आप आगे बढ़ सकते हैं।

आज अमेज़न इंडिया जैसे ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस के माध्यम से सामान बेचना ऑनलाइन पैसा कमाने का सबसे अच्छा तरीका है। जब तक आप इस बारे में जानकारी रखते हैं कि किन प्रोडक्ट्स को बेचना है और यह जानना कि ऑनलाइन चीजें कैसे काम करती हैं, अमेज़न पर बेचना आपके लिए बहुत लाभदायक हो सकता है।

चाहे आप एक फुल टाइम बिज़नेस करना चाहते हैं या अपने परिवार के खर्चो को पूरा करने के लिए एक साइड इनकम की तलाश में है, अमेज़ॅन पर सेलर बनना सबसे अच्छा तरीका है। इस ब्लॉग पोस्ट में मैंने आपको अमेज़ॅन इंडिया पर कैसे बेचना है, इस बारे में पूरी विस्तृत जानकारी देने का कोशिश किया है, ताकि आप अमेज़न पर एक Individual Seller/विक्रेता के रूप में अपनी यात्रा शुरू करने के लिए तैयार हों सके।

अमेज़न पर क्यों सामान बेचें?

अमेज़ॅन भारत का सबसे बड़ा ऑनलाइन बाज़ार है और लाखों-करोड़ो ग्राहकों तक उसकी सीधी पहुंच है, एक साधारण विक्रेता के लिए ये सब कल्पना करना लगभग असंभव है।

इसके 3 लाख से अधिक अमेज़न सेलर्स हैं, एक बार सोच कर देखिये कि जिस समय आप अपने प्रोडक्ट को अमेज़ॅन पर अपलोड करेंगे, उसके बाद आपकी पहुँच लाखों ग्राहकों तक होगी। और यही कारण है कि आपको अपने बिज़नेस को आगे बढ़ाने के लिए ऑनलाइन ईकॉमर्स मार्केटप्लेस का सहारा लेना चाहिए।

पेमेंट की विश्वसनीयता और प्लेटफॉर्म को use करने में आसानी के कारण amazon संभवतः प्रोडक्ट्स को ऑनलाइन बेचने के लिए सबसे अच्छे स्थानों में से एक है। अमेज़ॅन आपको क्या सुविधा देता है, इसका बेहतर विचार प्राप्त करने के लिए आप अमेज़ॅन पर सबसे अधिक बिकने वाले उत्पादों की जांच करके शुरू कर सकते हैं।

यह आपको एक अच्छा आईडिया देगा कि समय के साथ अमेज़ॅन पर कौन से प्रोडक्ट लोकप्रिय हुए हैं और कौन से प्रोडक्ट्स की बिक्री सबसे ज्यादा होते हैं। पिछले कुछ वर्षों में, भारत में खरीदारी के पैटर्न में जबरदस्त बदलाव आया है और अधिक से अधिक ग्राहक ऑनलाइन सामान खरीद रहे हैं।

ये कुछ categories है जो कि अमेज़न पर वर्तमान में कुछ सबसे अधिक बिकने वाली categories/श्रेणियां हैं।

  • Mobile & Accessories
  • Electronics
  • Home & Kitchen Appliances
  • Fashion & Apperal
  • Beauty & Health Products
  • Baby Products
  • Books

अगर आप वास्तव में किसी भी product inventory के मालिक नहीं है लेकिन फिर भी किसी प्रोडक्ट को बेचना चाहते हैं तो कैसे करें?

यदि आप एक नए seller के रूप में अपने रिस्क को कम करना चाहते हैं, तो Amazon में एक विशेष प्रावधान है जिसे ड्रॉपशिपिंग के रूप में जाना जाता है।

ड्रॉपशीपिंग एक ऐसी स्थिति है जहाँ आप वास्तव में किसी product inventory के मालिक नहीं हैं। प्रोडक्ट इन्वेंट्री और shipping की लागत एक तीसरी पार्टी द्वारा वहन की जाती है, जो कि आमतौर पर उस प्रोडक्ट के निर्माता/manufacturer ही होते है।

एक seller के रूप में, आपका मुख्य कार्य यह सुनिश्चित करना है कि आप अमेज़न पर प्रोडक्ट्स को अच्छी तरह से listing और marketing कर रहे हैं। इसके अलावा रिटर्न, कस्टमर सर्विस, टैक्स इत्यादि जैसे सभी प्रशासनिक/administrative पहलुओं का ध्यान रखना। यह विशेष रूप से महत्वपूर्ण है यदि आप अमेज़न पर ड्रॉपशिपिंग बिज़नेस करना चाहते है।

ड्रॉप शिपिंग या किसी तीसरे पक्ष/third party को ग्राहकों के आर्डर पूरा करने के लिए अनुमति देना आमतौर पर अमेज़न में स्वीकार्य है। यदि आप ड्रॉप शिपर का उपयोग करके ऑर्डर पूरा करने का इरादा रखते हैं, तो आपको हमेशा यह करना होगा:

  • अपने रिकॉर्ड के प्रोडक्ट्स के सेलर बने।
  • सभी पैकिंग पर्चियों पर प्रोडक्ट के विक्रेता/सेलर के रूप में अपनी पहचान दें और उस प्रोडक्ट के संबंध में शामिल या प्रदान की गई अन्य जानकारी।
  • आप जो प्रोडक्ट ग्राहकों को बेचते है उसके कस्टमर रिटर्न को स्वीकार करने और आगे उसे संसाधित/प्रोसेस करने के लिए जिम्मेदार रहें।
  • अपने सेलर एग्रीमेंट और अमेज़ॅन की पॉलिसी के अन्य सभी शर्तों का अनुपालन करें।
  • यदि आपके ऑर्डर स्लिप, चालान या पैकिंग पर्ची पर अपने स्वयं के अलावा किसी और सेलर के नाम तथा उनके कांटेक्ट इन्फॉर्मेशन के साथ प्रोडक्ट भेजे जाते हैं, तो ड्रॉप शिपिंग की अनुमति नहीं है।
  • इन requirements के अनुपालन में अगर आप असफल पाए जाते है तो आपके सेलिंग अधिकारों का निलंबन या निष्कासन हो सकता है।

अमेज़न पर ड्रॉप शिपिंग पॉलिसी के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप दिए गए लिंक के माध्यम से अमेज़न की ऑफिसियल वेबसाइट पर चेक कर सकते है।

तो जबकि ड्रॉप शिपिंग लगता है जैसे कि एक अमेज़ॅन सेलर बनने के risk free तरीके की तलाश करने वालों के लिए एक फायदेमंद विकल्प है, हाँ इसमें कुछ प्रतिबंध जरूर हैं। भारत में अमेज़ॅन पर ड्रॉप शिपिंग करने के लिए जरुरी है कि आप अमेज़न के FBA (Fulfillment By Amazon) facility के माध्यम से ड्रॉप शिप करें।

बस याद रखें, अमेज़ॅन ने भारतीय बाजार में अपने पांव जमा लिए है और अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना है। इसलिए यदि आप एक ऐसे व्यक्ति बनने का सपना देख रहे हैं जो अपना खुद का बॉस हो या आप अपनी बोरिंग सी 9-5 की जॉब छोड़ना चाहते है, तो ये है आपका मौका। इस पोस्ट में दिए गए इनफार्मेशन को समझकर अमेज़न सेलर बनें और अपने घर से ही काम करके बड़े पैमाने पर बिज़नेस शुरू करें

दोस्तों इस पोस्ट में दी गयी जानकारी को समझने में अगर कोई असुविधा हो रही हो, तो कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है और यदि आपको यह जानकारी सही लगे तो अपने जैसे और लोगो के साथ इस पोस्ट को शेयर कर उनकी मदद करें।

Sharing is Caring...
error: