भारत में बिटकॉइन ट्रेडिंग कर पैसे कैसे कमाएं? विस्तृत जानकारी

क्या आप जानते है? यदि आपने 2010 में $100 डॉलर मूल्य के बिटकॉइन खरीदे होते, तो आज आपके पास बिटकॉइन की समान राशि के लिए $75 मिलियन डॉलर की एक भारी भरकम राशि होती।

भारत में बिटकॉइन ट्रेडिंग कर पैसे कैसे कमाएं? विस्तृत जानकारी 1

अचानक Bitcoins ट्रेंड करने लगे! यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है क्योंकि सिर्फ इसी साल बिटकॉइन का मूल्य लगभग 150% तक बढ़ गया है, और जापान द्वारा बिटकॉइन को Payment Method के रूप में स्वीकार किए जाने के बाद बिटकॉइन की मांग/डिमांड में और वृद्धि हुई

2018 में, RBI ने भारत में Cryptocurrencies को गैरकानूनी घोषित किया था और बैंकों को Cryptocurrency से निपटने वाली कंपनियों के साथ साझेदारी/Partnership करने से रोक दिया था।

उन्होंने इसे आम जनता के लिए एक जोखिम भरे निवेश के रूप में प्रस्तुत किया, जबकि आंतरिक कारण लोगों को सरकार को टैक्स देने से बचने के लिए Cryptocurrency में निवेश करने से रोकना था। इस फैसले ने भारत में Cryptocurrencies की खरीद-फरोख्त करने पर लगभग रोक लगा दी।

उसके बाद Cryptocurrency से जुड़ी कंपनियों ने भारत में क्रिप्टोकरेन्सी खरीदने/बेचने के लिए इस RBI रेगुलेशन के खिलाफ याचिका दायर की। 2 साल की अवधि के बाद आखिरकार, मार्च 2020 को सुप्रीम कोर्ट ने आरबीआई रेगुलेशन को असंवैधानिक करार दिया। इससे क्रिप्टोकरेन्सी कंपनियों को भारत में व्यापार जारी रखने की अनुमति मिली।

क्या आप अभी भी सोच रहे हैं कि वास्तव में बिटकॉइन क्या है और इसे कैसे कमाया जाए? आज के पोस्ट में मैं बिटकॉइन, उसकी टेक्नोलॉजी और भारत में बिटकॉइन ट्रेडिंग से कमाई (और उससे होनेवाले नुक्सान) पर चर्चा करूंगा।

मैं बिटकॉइन के बारे में सभी आवश्यक पहलुओं पर भी चर्चा करूंगा, जो आपको इसमें कूदने से पहले जानने की जरूरत है। इसमें शामिल जोखिम के बारे में भी बात करूँगा और साथ ही यह भी बताऊंगा कि स्मार्ट ट्रेडिंग कैसे करें

नहीं, मैं अन्य वेबसाइटों पर आपके द्वारा देखे जा रहे बोरिंग चीजों के बारे में नहीं सोच रहा हूँ। मैं इसे एक अलग दृष्टिकोण से समझाने की कोशिश करूंगा, जिससे मुझे विश्वास है आपको आसानी से समझ में आ जायेगा

बस आपको एक विचार देने के लिए बता दूँ, जब मैं इस पोस्ट को लिख रहा हूँ, मेरे बिटकॉइन की कीमत कभी बढ़ रहे हैं और कभी घट भी रहे है

मुझे पता है कि आपके मन में बिटकॉइन के बारे में कई प्रश्न हैं और मुझे कभी भी कोई ऐसी वेबसाइट नहीं मिली जो इन मामलों पर इस तरह से चर्चा करती हो ताकि हम बेहतर समझ सकें। इसलिए, मैंने इसे अपने अंदाज में लिखने की कोशिश की और आप सभी को बिटकॉइन के बारे में शिक्षित करने की कोशिश की

तो, चलिए आज के ट्रेंडिंग टॉपिक Bitcoins या BTC के साथ शुरुआत करते हैं।

बिटकॉइन क्या है?

बिटकॉइन एक क्रिप्टोकरेंसी है। रुकिए, फिर क्रिप्टोकरेंसी क्या है?

मुझे शुरुआत से शुरू करने दें: Cryptography.

जब आप बच्चे थे तब आपने शायद यह खेल खेला होगा। कुछ इस तरह: मान लीजिये कि दो लाइनें/पंक्तियाँ हैं

-CONTINUE GYAN: HINDI INFORMATIONAL BLOG

-DPOUJOVF HZBO: IJOEJ JOGPSNBUJPOBM CMPH

पहली लाइन देखें ‘CONTINUE GYAN: HINDI INFORMATIONAL BLOG’ यह एक सार्थक वाक्य है। जबकि दूसरी लाइन ‘DPOUJOVF HZBO: IJOEJ JOGPSNBUJPOBM CMPH’ बिल्कुल भी सार्थक नहीं है, इसमें कुछ भी समझ में नहीं आ रहा है इसका कोई मतलब नहीं बनता। अगर मैं किसी को यह दूसरी लाइन पढ़ने के लिए देता हूँ तो इसका अर्थ निकालने में उसे कुछ समय लगेगा।

मैंने जो किया वो यह है कि मैंने सिर्फ दूसरी लाइन में पहले वाली लाइन के अक्षर के बाद वाला अक्षर लिखा है। जैसे C के जगह D, O के जगह P और N के जगह O का प्रयोग किया है और इसी तरह बाकी के अक्षर भी उसके बाद वाले अक्षर से बदल दिया है।

किसी चीज़ को किसी और चीज़ से बदलने की इस प्रक्रिया को ‘Encryption’ कहा जाता है। मैंने यहाँ पहली लाइन को दूसरी लाइन के साथ Encrypt किया है।

एन्क्रिप्शन को Decode करके पहली लाइन को दूसरी लाइन से वापस लाना ‘Decryption’ कहलाता है। डेटा को Decrypt करने के लिए, हमें Decryption Key की आवश्यकता होती है। उपरोक्त उदाहरण के Decryption Key में अक्षर को उसके बाद वाले अक्षर से बदलने का निर्देश दिया गया था। Decryption Key का उपयोग करके हम इसे Decrypt कर सकते हैं

लेकिन, अगर मैं आपको वह उदाहरण वाक्य देता हूँ यदि आप चतुर हैं, तो आप इसे बिना Decryption Key के भी Decrypt कर सकते हैं। यह आसान है।

ऊपर दिया गया Encryption – Decryption का उदाहरण केवल एक छोटा सा नमूना था। आजकल टेक्नोलॉजी के माध्यम से Encryption उच्चतम मानकों तक पहुँच गया है। आज की आधुनिक तकनीक सबसे मजबूत सुरक्षा के साथ उच्चतम Encryption Algorithm का उपयोग करती है ताकि इसे बिना Decryption Key के Decrypt न किया जा सके।

Encrypting और Decrypting की इस आधुनिक तकनीक को Cryptography के नाम से जाना जाता है। क्या अब Concept क्लियर हो गया?

चलिए, अब Cryptocurrency पर बात करते है। सीधे शब्दों में कहें, तो Cryptocurrency एक Digital/Virtual Currency है जो खुद को Encrypt करने के लिए Cryptography का उपयोग करती है।

यहाँ ध्यान देने वाली पहली बात कि यह Virtual है, Physical नहीं। यानि इसे आप अपने हाथो से नहीं छू सकते।

आपने वर्चुअल डेबिट कार्ड के बारे में कहीं न कहीं जरूर सुना होगा या शायद आप खुद भी इस्तेमाल करते होंगे। यह Physical डेबिट कार्ड के समान ही एक डेबिट कार्ड होता है, जिससे सिर्फ डिजिटल पेमेंट किया जा सकता है। इसी तरह, एक क्रिप्टोकरेन्सी पूरी तरह से वर्चुअल/डिजिटल मुद्रा है जिसका कोई भौतिक/Physical अस्तित्व नहीं है।

नोट: Virtual/Physical और Online/Offline के बीच कंफ्यूज न करें, एक क्रिप्टोकरेंसी केवल Virtual mode में मौजूद हो सकती है Physical रूप से नहीं। लेकिन यह ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों में मौजूद हो सकती है। मैं इस विषय पर बाद में आ रहा हूँ, अभी के लिए ध्यान रखें कि यह Virtual है। जैसे Virtual Wallet होते है- Paytm, Mobikwik, Freecharge इत्यादि।

जैसे हम Physical Currency (रुपये) का आदान-प्रदान करते हैं, वैसे ही लोगो के बीच क्रिप्टोकरेंसी का आदान-प्रदान भी किया जा सकता है। जैसे आप किसी चीज के बदले पैसे देते हैं या लेते हैं, उसके जगह आप क्रिप्टोकरेंसी भी दे सकते हैं या ले सकते हैं।

बिटकॉइन एक प्रकार की क्रिप्टोकरेंसी है। बिटकॉइन एक अज्ञात व्यक्ति या अज्ञात व्यक्तियों के एक समूह द्वारा साल 2009 में बनाया गया था, जिन्होंने अपना नाम ‘Satoshi Nakamoto’ का उपयोग किया था। लेकिन अभी तक उनका नाम कन्फर्म नहीं है, कोई नहीं जानता Satoshi Nakamoto कौन है।

Statista के अनुसार Bitcoins के अलावा, लगभग 4000 से भी ज्यादा अन्य क्रिप्टोकरेंसी मौजूद हैं दुनियाभर में और उनमें से प्रत्येक हमारी Physical Currency में अपनी Conversion Rate रखते हैं यानि क्रिप्टोकरेन्सी से रूपया, डॉलर इत्यादि जैसे करेंसी में बदलने की दर/कीमत। उदाहरण के लिए कुछ क्रिप्टोकरेन्सी जैसे- Ethereum, Litecoin, Dogecoin, Zcash, Peercoin इत्यादि।

ओह, एक चीज तो बताना मै भूल ही गया कि Conversion Rate में हर पल उतार-चढ़ाव होता रहता है। यह INR-USD Conversion Rate के समान है, जो विभिन्न कारकों के आधार पर बदलता रहता है। इसी तरह, बिटकॉइन से लेकर USD Conversion Rate हर दूसरे कारक के आधार पर बदलती रहती हैं। (उनमें से कुछ मैं इस पोस्ट में चर्चा करूंगा ताकि आप इसे बेहतर समझ सकें)

संभवतः आपने लोगों को यह कहते हुए सुना होगा कि बिटकॉइन के साथ व्यापार करना जोखिम भरा है। यह इस तथ्य के कारण है कि बिटकॉइन और हर दूसरे क्रिप्टोकरेंसी का मूल्य/वैल्यू तेजी से बदलता रहता है। यदि आप भाग्यशाली हैं तो आप बहुत बड़ी कमाई कर सकते हैं, या आपको बहुत बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है।

लेकिन अगर आप चालाकी से खेल सकते हैं / ट्रेडिंग कर सकते है, तो आप संभवतः कुछ अच्छी रकम कमा सकते हैं। जैसा कि मैंने कहा, इस साल BTC के मूल्य में 150% की वृद्धि हुई! यह सब एक अच्छी योजना के साथ रिसर्च और निवेश करने के बारे में है

आप एक क्रिप्टोकरेंसी को दूसरे क्रिप्टोकरेंसी के लिए एक्सचेंज कर सकते हैं। उसके लिए कई वेबसाइट उपलब्ध हैं। (मैं इस विषय पर बाद में आऊंगा)। वर्तमान में, सभी क्रिप्टोकरेंसी के बीच बिटकॉइन का वैल्यू सबसे ज्यादा है। अभी के लिए इतना ध्यान में रखें। आइए Bitcoin Wallet पर आगे बढ़ते हैं और जानते है कि बिटकॉइन वॉलेट कैसे काम करता है

Bitcoin Wallet और Bitcoin Address क्या है?

भारत में बिटकॉइन ट्रेडिंग कर पैसे कैसे कमाएं? विस्तृत जानकारी 2

बिटकॉइन को स्टोर करने के लिए आपको बिटकॉइन वॉलेट की जरूरत होती है। बिटकॉइन वॉलेट बनाना आसान है। मैं आपके सुरक्षित बिटकॉइन वॉलेट बनाने के लिए Blockchain का उपयोग करने की सलाह देता हूँ। Bitcoin Wallet बनाने से आपको एक Bitcoin Addresses मिल जाता हैं

यदि आप इसे ध्यान से पढ़ते हैं तो देखेंगे कि Bitcoin Address मूल रूप से Letters और Numbers का एक मिला जुला संख्या है। बिटकॉइन एड्रेस में 26-35 digit तक के Alphanumeric Characters होते है जो बिटकॉइन पेमेंट के लिए एक गंतव्य/destination को represent करता है, इसमें एक संबंधित QR कोड भी होता है।

किसी अन्य व्यक्ति के Bitcoin Wallet में पैसे भेजने के लिए आपको या तो उसके Bitcoin Address की आवश्यकता होगी या बस उसके Wallet QR Code को स्कैन करना होगा और आप उन्हें बिटकॉइन भेज सकते हैं। Bitcoins प्राप्त करने के लिए समान प्रक्रिया लागू होता है, आपको अपना Bitcoin Address या QR Code दूसरी पार्टी को देने की आवश्यकता होती है और वह आपको Bitcoins भेज सकेगा

याद रखने वाली एक महत्वपूर्ण बात यह है कि बिटकॉइन ट्रांसक्शन irreversible हैं। यानि एक बार बिटकॉइन भेजे जाने के बाद, आप इसे उल्टा नहीं कर सकते। इसे पुनर्प्राप्त करने का एकमात्र संभव तरीका रिसीवर को इसे वापस करने के लिए कहना है। इसलिए, यदि आप सही Bitcoin Address टाइप करने में गलती करते हैं तो यह आपके लिए घातक होगा।

लेकिन कई लोग Wallet और Bitcoin Address के बीच भ्रमित होते हैं। एक Address खुद एक Private Key है जो इस जानकारी को वहन करती है कि इसमें कितना बिटकॉइन संग्रहीत है। Wallet Private Keys का एक संग्रह है। लेन-देन के दौरान, आप अपना/अन्य पार्टियों का Bitcoin Address देते हैं या लेते हैं। प्रत्येक लेनदेन के लिए, आप एक अलग Address का उपयोग कर सकते हैं।

हर सफल ट्रांसक्शन के बाद आपको एक नया Bitcoin Address मिलता है, आप चाहे तो दूसरे ट्रांसक्शन के लिए नया Bitcoin Address उपयोग कर सकते है या आपका पुराना Bitcoin Address भी इस्तेमाल कर सकते है। ऐसा इसीलिए होता है ताकि कोई आपको ट्रैक न कर सके, हर बार ट्रांसक्शन के लिए एक ही Bitcoin Address का उपयोग करने से ट्रैक करना आसान हो जाता है कि उसी Bitcoin Address पर कितने बार बिटकॉइन भेजे गए है

रेगुलर Wallets के विपरीत, Bitcoin Wallet सीधे हार्डवेयर में संग्रहीत होते हैं। जैसा कि मैंने कहा कि Bitcoin Address Letters और Numbers का एक Random संख्या होता है और इसके साथ एक सम्बंधित QR कोड भी होता हैं, इसलिए आप इसे अपने पेन ड्राइव, कंप्यूटर, मोबाइल पर स्टोर कर सकते हैं या यहां तक ​​कि एक प्रिंट आउट भी निकाल सकते हैं और इसे ऑफ़लाइन स्टोर कर सकते हैं।

एक Paper Wallet बिटकॉइन स्टोर करने के लिए सुरक्षित है क्योंकि यह गैर-इलेक्ट्रॉनिक होता है, इसलिए इसमें हार्ड डिस्क या पेन ड्राइव की तरह Corrupt होने का कोई खतरा नहीं होता। इसे इंटरनेट से अलग रखा जाता है, इसलिए कोई भी वास्तव में हैकिंग के द्वारा इसे प्राप्त नहीं कर सकता। यह सलाह दिया जाता है कि आप सभी को एक पेपर बिटकॉइन वॉलेट बनाना चाहिए और अपने बिटकॉइन को वहां स्टोर करना चाहिए।

अब, बिटकॉइन के पीछे की टेक्नोलॉजी के बारे में जानने की कोशिश करते है और यह कैसे काम करता है। फिर से मैं तकनीकी डिटेल्स पर नहीं जाऊंगा, मैं सिर्फ उस भाग को बताऊंगा जिसे आपको जानना चाहिए बिना कोई कंफ्यूजन के।

बिटकॉइन कैसे काम करता है और Bitcoin Mining क्या है?

भारत में बिटकॉइन ट्रेडिंग कर पैसे कैसे कमाएं? विस्तृत जानकारी 3

यह हिस्सा पूरे बिटकॉइन सिस्टम का मूल है। जब तक आप तकनीक को ठीक से नहीं समझेंगे, तब तक बिटकॉइन सिस्टम के बारे में आपकी जानकारी अस्पष्ट होगी। अफसोस की बात है कि अधिकांश वेबसाइटों ने जटिल स्पष्टीकरण दिए हैं, जिन्हें ठीक से समझना मुश्किल है। मैं आपको एक आसान तरीके से समझाने की कोशिश करूंगा।

जैसे हमारी मुद्रा भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा छापी जाती है, उसी तरह बिटकॉइन को भी कहीं से उत्पन्न करने की आवश्यकता है। इसके संस्थापक Satoshi Nakamoto ने बिटकॉइन विकसित करने का एक दिलचस्प तरीका पाया, जिसे Bitcoin Mining के रूप में जाना जाता है

सरल शब्दों में कहे तो Bitcoin Mining करने के लिए कंप्यूटर को जटिल गणितीय समस्याओं को हल करना पड़ता है। Mining की प्रक्रिया के दौरान कंप्यूटर द्वारा उत्पन्न Information बिटकॉइन में संग्रहीत/स्टोर की जाती है।

लेकिन एक कंप्यूटर को समस्या क्यों हल करनी चाहिए? और किस समस्या का समाधान करना चाहिए? बताता हूँ, आपको सब बताने के लिए ही मै यह ब्लॉग पोस्ट लिख रहा हूँ।

मान लीजिए कि व्यक्ति A, व्यक्ति B को 1 BTC भेज रहा है, तो व्यक्ति A व्यक्ति B का BTC Address लेगा और बिटकॉइन ट्रान्सफर कर देगा। जैसे ही Transfer request किया जाता है, एक ‘Block’ या Record एक Encryption के साथ बनाया जाता है जो यह बताता है कि एक ट्रांसक्शन Pending है।

एक Miner का काम फिर से ‘Block’ को Decrypt करना है (जैसे मैंने कहा, प्रत्येक Address एक Private Key है) ताकि बिटकॉइन व्यक्ति B को ट्रान्सफर हो जाए। उसके बाद Decrypt किया गया ‘Block’ एक ‘Blockchain’ से जुड़ जाता है। ट्रांसक्शन पूरा होने के बाद Blockchain सफल लेनदेन का रिकॉर्ड रखता है।

तो, एक ब्लॉकचेन से लेन-देन के सभी डिटेल्स को जाना जा सकता है, जिसमें किस पते पर भेजा गया था, किसको भेजा गया था और कितनी राशि भेजा गया था। लेकिन अगर कोई नहीं जानता है कि उस Bitcoin Address के पीछे कौन है, तब बिटकॉइन खर्च करने और स्वीकार करने वाले दोनों पक्ष निजी/private बने हुए हैं।

खैर, पैसा ट्रांसफर करने का काम करने में Miner कुछ फीस लेता है। इसलिए व्यक्ति B को पूरी तरह से 1 BTC प्राप्त नहीं होता है, वह थोड़ा कम प्राप्त करेगा। यही कारण है कि हर बिटकॉइन लेन-देन पर फीस की कुछ राशि काट ली जाती है।

फीस की राशि पूरी तरह से Miner पर निर्भर करता है, वह भी उतार-चढ़ाव करता रहता है। लेकिन, यह एक बहुत ही कम राशि होती है (0.00001% से भी कम) जिसने लेनदेन की अधिकांश राशि को प्रभावित नहीं किया।

चलिए फिर से Miner के दृष्टिकोण पर बात करते है, Miners को इन जटिल Encryption Algorithm को हल करने की आवश्यकता है जो गणित/Mathematics पर आधारित है। जितना अधिक Mining किया जाता है, उतने ही ज्यादा बिटकॉइन बनाए जाते हैं।

जैसे ही नए बिटकॉइन बनते हैं, Miner इसके मालिक होते हैं। क्योंकि उन्होंने इसका mining किया था। यह miners के लिए एक इनाम की तरह है और यह नया बिटकॉइन उत्पन्न/generate करने का एकमात्र स्रोत है। Bitcoin Mining Reward की राशि हर 4 साल में आधी हो जाती है।

Bitcoin Mining Reward क्या है?

खैर, यह एक और दिलचस्प परिदृश्य है। Bitcoin Mining Reward की राशि हर 4 साल में आधी हो जाती है। बिटकॉइन की यह तकनीक Satoshi Nakamoto द्वारा बनाई गई है।

इसलिए, यदि कोई Miner साल 2009 में एक ब्लॉक के mining के लिए 50 बिटकॉइन कमाए थे, तो वही miner साल 2013 में समान काम के लिए केवल 25 बिटकॉइन कमाए है, साल 2017 में 12.5 बिटकॉइन और उसी तरह साल 2021 में समान काम के लिए 6.25 बिटकॉइन ही कमाएंगे।

गणितज्ञों ने गणना की है और पाया है कि यदि यह जारी रहता है, तो कभी भी 21 million यानि 2 करोड़ 10 लाख से अधिक बिटकॉइन प्रचलन में नहीं होंगे। तो बिटकॉइन की कुल राशि जो बनाई जा सकती है और परिचालित की जा सकती है वो पहले से तय है।

अभी 2021 में, 18.5 million बिटकॉइन पहले ही इस तकनीक का उपयोग करके mining के जरिये generate हो चुके हैं। अब केवल 2.5 million बिटकॉइन बचा है और यह साल 2140 तक जारी रहेगा। तब तक सभी बिटकॉइन का mining कर लिया जाएगा

उसके बाद कितना भी अधिक mining किया जाए नए बिटकॉइन का उत्पादन नहीं होगा, इस तथ्य के कारण कि इनाम की राशि हर 4 साल में आधा हो जाता है और वर्ष 2140 तक यह लगभग शून्य हो जाएगा।

यदि आप अभी भी पढ़ रहे हैं तो हाँ, अब आप जानते हैं कि यह बिटकॉइन प्रणाली कैसे काम करती है। इस बात को समझने में लोग विफल है, वे कंफ्यूज कर जाते है। लेकिन अब आप इसे जानते हैं।

बिटकॉइन की वैल्यू में उतार-चढ़ाव क्यों होता है?

भारत में बिटकॉइन ट्रेडिंग कर पैसे कैसे कमाएं? विस्तृत जानकारी 4

शुरुआत में, मैंने कहा था कि बिटकॉइन से डॉलर या भारतीय रूपया या अन्य मुद्राओं की Conversion Rate में उतार-चढ़ाव होता रहता है। उपयोगकर्ताओं/यूज़र्स की सामान्य प्रवृत्ति बिटकॉइन खरीदने की है और बिटकॉइन के वैल्यू बढ़ने का इंतज़ार करते है और अंत में उन्हें ज्यादा कीमत पर बेचकर मुनाफ़ा कमाते हैबिटकॉइन की यह खरीद-बिक्री ही उतार-चढ़ाव का मूल कारण है

जब कोई बिटकॉइन खरीदता है, तो बिटकॉइन का मूल्य बढ़ जाता है। यह इस तथ्य के कारण है कि बिटकॉइन का इस्तेमाल लोग कर रहे हैं। बिटकॉइन की कुल राशि स्थिर है, अब जितने अधिक लोग खरीदेंगे, बिटकॉइन की संख्या बाजार में कम होगी। बिटकॉइन की इसी कमी के कारण इसकी मूल्य/वैल्यू बढ़ती है

ठीक उसी तरह, जब कोई बिटकॉइन बेचता है तो बिटकॉइन का मूल्य कम हो जाता है। बिटकॉइन के यूज़र्स द्वारा अस्वीकार किए जाने के कारण ऐसा होता है और फिर वे स्वतंत्र रूप से उपलब्ध होते हैं किसी दूसरे यूज़र द्वारा ख़रीदा जाने के लिए।

यदि सभी बिटकॉइन धारक बिटकॉइन को इसी वक़्त तुरंत बेचने का निर्णय लेते हैं, तो बिटकॉइन का मूल्य शून्य हो जाएगा। यह तो स्पष्ट है कि कोई कारोबार तभी किया जा सकता है जब इसके लिए यूज़र्स/उपयोगकर्ता/ग्राहक हों।

साथ ही, जितने अधिक बिटकॉइन खरीदे जाएंगे उसका मूल्य उतना अधिक होगा। अभी 2021 में यह जबरदस्त रूप से बढ़ रहा है और इसके पीछे का कारण: लोग इसे बेतहाशा खरीद रहे हैं। मेरी राय में, मुझे नहीं लगता कि लोग अभी खरीदना बंद करेंगे। वास्तव में, यह बढ़ी हुई कीमत अधिक से अधिक खरीदारों को प्रोत्साहित करने वाली है, जो इसकी कीमत को और भी अधिक बढ़ाएगी। लेकिन ये सब मेरी अटकलें हैं। ऐसा नहीं हो सकता!

मुझे लगता है अब आप समझ गए हैं कि बिटकॉइन का मूल्य क्यों बढ़ता-घटता रहता है। यह लोगो के उपयोग से किए गए लेनदेन की मात्रा के कारण होता है।

चूंकि बिटकॉइन को व्यापक रूप से कई कंपनियों के लिए पेमेंट मोड के रूप में स्वीकार किया जाता है, इसलिए बिटकॉइन की मांग अधिक है, जिसके परिणामस्वरूप यह उच्च कीमत है। बिटकॉइन के रूप में पेमेंट स्वीकार करने वाले भी लाभान्वित हो रहे हैं। क्योंकि जब तक वे उस बिटकॉइन को बेचते हैं, तब तक वे पेमेंट के रूप में ली गई वास्तविक राशि से भी अधिक कमा सकते हैं।

उदाहरण के लिए मान लीजिए कि एक जूते की कीमत 500 रुपये है और एक यूज़र 500 रुपये की कीमत के बिटकॉइन का पेमेंट कंपनी को करता है। महीने के अंत में जब कंपनी इसे नकद करने का फैसला करती है, तब उस राशि के बिटकॉइन की कीमत 1000 रुपये तक हो सकती है। यही कारण है, विभिन्न व्यापारियों ने बिटकॉइन स्वीकार करना शुरू कर दिया है और यह हर दिन बढ़ता जा रहा है।

बिटकॉइन के लिए स्कोप और डिमांड देखें, अब आप इसके तेजी से बढ़ने के पीछे का कारण आसानी से बता सकते हैं।

क्या आपको लग रहा है कि बिटकॉइन का मूल्य बहुत अधिक है? यही समय है जब लोग उन्हें बेचना शुरू करते हैं। इससे बिटकॉइन का मूल्य कम हो सकता है। यदि बिटकॉइन का मूल्य बहुत कम है, तो लोग इसके मूल्य को कम देखते हुए इसे फिर से खरीद लेंगे भविष्य में मुनाफ़ा कमाने के लिए।😉 है ना मज़ेदार।

Bitcoins के साथ क्या करना है?

मूल रूप से दो चीजें हैं जो आप बिटकॉइन खरीदने के साथ कर सकते हैं। पहली बात जो मैंने पहले ही चर्चा किया था, वो है उनके मूल्य के आधार पर बिटकॉइन खरीदने और बेचने के लिए

दूसरी चीज जो आप कर सकते हैं और जो अधिक लाभदायक है, वह है अन्य क्रिप्टोकरेंसी के लिए बिटकॉइन का व्यापार करना

हर क्रिप्टोकरेन्सी की अपनी Conversion rate है और इसमें उतार-चढ़ाव भी होता रहता है। तो आप कुछ अन्य क्रिप्टोकरेन्सी के लिए बिटकॉइन का व्यापार कर सकते हैं और मूल्य बढ़ने तक प्रतीक्षा कर सकते हैं और फिर से कुछ अन्य क्रिप्टोकरेन्सी के लिए बिटकॉइन को एक्सचेंज कर सकते हैं

इस प्रकार के व्यापार आमतौर पर लाभदायक होते हैं क्योंकि आपका पैसा कभी भी एक मुद्रा में संग्रहीत नहीं होता है। यदि आप अच्छा खेलते हैं यानि ट्रेडिंग करते है, तो आप जल्दी कुछ मुनाफा कमाएँगे।

एक सामान्य नियम यह है कि जब तक आपको पैसे की आवश्यकता न हो, तब तक वास्तविक पैसे के लिए अपनी क्रिप्टोकरेंसी को कभी भी न बेचें। ऐसा इसलिए, क्योंकि यदि आप इसे बेचते हैं तो अगली बार जब आपको उन्हें खरीदना होगा तो आपको और भी अधिक कीमत का पेमेंट करना होगा। क्योंकि हमारी करेंसी की वैल्यू लगभग समान रहते हैं और कभी नहीं बढ़ते हैं।

लेकिन अगर आप कुछ ऐसी क्रिप्टोकरेंसी पर अपना पैसा लगाते हैं जो हर दिन बढ़ता जा रहा है, तो आप हर रोज पैसे कमाते रहेंगे।

निवेश करने से पहले Bitcoins के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें:

अब तक आप बिटकॉइन ट्रेडिंग शुरू करने के लिए लगभग सभी चीजें जान चुके हैं। लेकिन, मुझे लगता है कि आपसे कुछ महत्वपूर्ण चीजों के बारे में बात करनी चाहिए, जो मुझे लगता है कि आपको बिटकॉइन पर अपने हाथों को गंदे करने से पहले पता होना चाहिए

‘किसी का लाभ इस बाजार में किसी का नुकसान है’

ये बहुत महत्वपूर्ण बातें हैं। बिटकॉइन खरीदने और उसपर आगे बढ़ने से पहले कृपया इन्हे ध्यान से पढ़ें।

  • जोखिम कारको को ध्यान से समझें, बिटकॉइन का मूल्य कभी भी गिर सकता है। यह पूरी तरह अप्रत्याशित है। यदि आप बिटकॉइन खरीदते हैं और अपना पैसा गंवाते हैं तो इसके लिए मैं जिम्मेदार नहीं रहूँगा।
  • यदि आप ऑनलाइन पैसा कमाने के लिए अभी नए हैं, या यदि आपके पास अच्छा बैंक बैलेंस नहीं है तो आपको बिटकॉइन में पैसा लगाने से दूर रहना चाहिए। यह मौका का खेल है और भविष्य में क्या होगा इसका कोई पक्का गारंटी नहीं है। इसलिए, नए लोग इसमें खेलने के लिए तैयार नहीं हैं।
  • केवल तभी आगे बढ़ें जब आपने पहले ही ऑनलाइन बहुत सारा पैसा कमा लिया हो या आपके पास बहुत बड़ा बैंक बैलेंस हो।
  • कभी भी बिटकॉइन में सभी बैंक बैलेंस का निवेश न करें, केवल एक छोटी राशि का निवेश करें। आपके ज्यादातर पैसे अपने बैंक में रखें। उस छोटी राशि को बड़ा होने दें, यहां तक ​​कि अगर कुछ बुरा होता है तो आपका मुख्य बैंक बैलेंस आपको बचाने के लिए रहेगा। ऐसा करने से आप एकदम से बिलकुल कंगाल नहीं हो जायेंगे।
  • Bitcoins में निवेश करते समय रिटर्न की आशा न करें, इसे ऐसे समझें कि आपके कुछ पैसे पहले ही बर्बाद हो चुके हैं। यह आपको बिटकॉइन के साथ बेहतर तरीके से ट्रेडिंग करने में मदद करेगा
  • यह प्लेटफ़ॉर्म केवल जोखिम लेने वाले लोगों के लिए है। हां, जोखिम उठाने लायक है लेकिन यदि आपकी वित्तीय स्थिति अच्छी नहीं है तो आपको जोखिम नहीं उठाना चाहिए। आपको बिटकॉइन में निवेश करके जीने की उम्मीद नहीं करनी चाहिए। यह केवल एक अतिरिक्त इनकम/आय के रूप में है।
  • बिटकॉइन भारत में कानूनी अधिकार क्षेत्र से बाहर है। इसलिए, बिटकॉइन के साथ व्यापार करना अवैध नहीं है और आप किसी भी कानूनी प्रक्रिया के लिए बाध्य नहीं हैं। कोई सरकारी टैक्स और अन्य शुल्क भी नहीं है। लेकिन यह भी जान लें कि बिटकॉइन से होने वाले फायदे या नुक्सान पर कानून आपकी कोई मदद नहीं कर सकता क्योंकि यह कानूनी अधिकार क्षेत्र से बाहर है।
  • अगर आप बिटकॉइन में निवेश कर रहे हैं, तो कम से कम 7-8 हजार रुपये निवेश करने की कोशिश करें। इससे आपको बेहतर रिटर्न मिलेगा। लेकिन जैसा मैंने पहले ही कहा, आपको पूरी तरह से बिटकॉइन से होने वाली कमाई पर भरोसा नहीं करना है
  • प्रत्येक बिटकॉइन लेनदेन पर mining के कारण शुल्क में कटौती होती है, जिसे मैंने ऊपर स्पष्ट रूप से समझाया था। इसलिए जब आप बिटकॉइन खरीद रहे हैं, बेच रहे हैं या ट्रांसफर कर रहे हैं, तो बिटकॉइन की पूरी राशि की उम्मीद न करें। यह आपकी कुल राशि से कुछ कम होगा।
  • बिटकॉइन की खरीद और बिक्री की दर अलग-अलग हैं। बिटकॉइन की selling rate उसके buying rate की तुलना में बहुत कम है। इसलिए जब आप बिटकॉइन खरीदते हैं, तो आपको इसे बेचने से पहले इसका मूल्य बढ़ने की प्रतीक्षा करनी होगी। वरना आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है।

भारत में Bitcoins कैसे खरीदें और बेचें?

भारत में आप दो तरीकों से Bitcoins खरीद सकते हैं: या तो किसी भी बिटकॉइन विक्रेता से या Bitcoin Buy/Sell के भरोसेमंद Websites से। बिटकॉइन वेंडर पूरे सोशल नेटवर्क पर उपलब्ध हैं, बस फ़ेसबुक पर सर्च करे Bitcoin Buy/Sell और आपको बिटकॉइन खरीदने और बेचने वाले बहुत सारे फेसबुक ग्रुप मिल जायेंगे

लेकिन उनसे खरीदने में एक बड़ा जोखिम है, वे आपको धोखा दे सकते हैं। वे आपके पैसे ले सकते हैं और कभी भी आपको बिटकॉइन नहीं देंगे। आप कानूनी सहायता भी नहीं ले सकते क्योंकि बिटकॉइन किसी भी कानूनी अधिकार के क्षेत्र में नहीं आते हैं

तो, दूसरा विकल्प अधिक बेहतर है। आपको किसी विश्वसनीय जगह से ही बिटकॉइन खरीदना चाहिए और वहीं बेचना चाहिए।

नीचे मैं उन वेबसाइट/ऐप्स की एक लिस्ट बना रहा हूँ जिनसे आप बिटकॉइन की खरीद-बिक्री कर सकते है

ध्यान दें कि ये एक Hardware Wallet नहीं हैं, जैसा मैंने ऊपर कहा यह एक Online Wallet है जो उनके सर्वर पर स्टोर होकर रहता है। इसलिए यदि आपको बिटकॉइन को अधिक समय तक स्टोर करने की योजना है, तो यह सलाह दी जाती है कि आप हमेशा अपने बिटकॉइन को एक Hardware Wallet में ट्रांसफर करें जो आप Blockchain पर बना सकते है।

चलिए, ज्यादा बकवास ना करते हुए बिटकॉइन खरीद-बिक्री करने के विकल्पों पर नजर डालते हैं।

यदि आप अभी शुरुआत करना चाहते हैं तो ये मेरे सुझाव होंगे। लेकिन इसके अलावा कई अन्य वॉलेट हैं जिनका उपयोग आप भारत से भी कर सकते हैं। इनमें से प्रत्येक ऐप के लिए भारतीय बैंक से पैसे जमा करने या अपने बैंक खाते में पैसे रिसीव करने के लिए ऐप का उपयोग शुरू करने से पहले आपको KYC पूरा करना होगा। तो इनमें से किसी भी ऐप से जुड़ने के बाद आपको पहली चीज़ जो करनी चाहिए वह है अपना KYC अपडेट करना, क्योंकि इसमें एक-दो घंटे लग सकते हैं।

भारत में बिटकॉइन ट्रेडिंग कैसे करें?

बिटकॉइन ट्रेडिंग, एक क्रिप्टोकरेंसी खरीदने के लिए एक अन्य क्रिप्टोकरेंसी का आदान-प्रदान करने की प्रक्रिया है। हम आमतौर पर बिटकॉइन को Altcoins (अन्य क्रिप्टोकरेंसी) के साथ ट्रेडिंग करते हैं, हम बिटकॉइन को एक्सचेंज करके अधिक Altcoins खरीद सकते हैं। क्योंकि बिटकॉइन का मूल्य अधिक होता है और तब जाकर हम बेहतर लाभ प्राप्त कर सकते हैं जब संबंधित Altcoin का मूल्य अधिक हो जाता है।

अब सवाल आता है कि हम Altcoins (अन्य क्रिप्टोकरेंसी) को सीधे क्यों नहीं खरीदते, जैसे हम बिटकॉइन खरीदते हैं?

कारण यह है कि Altcoins को खरीदने के लिए कोई विकल्प नहीं हैं। हाँ, कुछ वेबसाइटें हैं जो सीधे Altcoins खरीदने का विकल्प देती हैं, आप चाहें तो उन्हें आज़मा सकते हैं। लेकिन मैं व्यक्तिगत रूप से पहले Bitcoins खरीदना पसंद करता हूँ। यह वास्तव में ट्रेडिंग की रणनीति/strategy के बारे में है।

जैसा कि बिटकॉइन का मूल्य अधिक है, आपके पास जितने अधिक बिटकॉइन होंगे, उतना ही अधिक Ethereum या अन्य Altcoins आप खरीद सकते हैं। इसलिए आप पहले BTC खरीद सकते हैं और कुछ दिनों के लिए BTC में अपना पैसा रख सकते हैं, BTC की वृद्धि देखें और जब BTC का मूल्य नीचे गिरने लगे तो Ethereum या अन्य Altcoins पर आप ट्रेडिंग कर सकते हैं।

उस स्थिति में, आप अधिक Altcoins खरीद सकते हैं क्योंकि आपका BTC उस समय तक बढ़ गया होगा। क्या यह अच्छा विचार नहीं है?

बिटकॉइन की ट्रेडिंग कहां से करें?

ऐसी कई साइटें हैं जहाँ आप अपने पसंदीदा Altcoins के लिए Bitcoins का आदान-प्रदान कर सकते हैं। अब ऊपर सूचीबद्ध लिस्ट में से लगभग सभी ऐप बिटकॉइन की ट्रेडिंग को अन्य क्रिप्टोकरेन्सी में सपोर्ट करते हैं। तो, उनके बीच अंतर क्या है?

अंतर सिर्फ इतना है कि प्रत्येक प्लेटफ़ॉर्म पर उनके ट्रेडिंग की दर अलग-अलग होगी, हालांकि यह बहुत कम होता है। आप बस किसी भी प्लेटफ़ॉर्म का उपयोग कर सकते हैं जैसा आप चाहते हैं, और जैसा कि पुराना नियम कहता है: अपने सभी अंडे एक टोकरी में न रखें

इसलिए, अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाने के लिए और अपने साइबर सिक्योरिटी को बनाए रखने के लिए कई प्लेटफार्मों का उपयोग करना ज्यादा बेहतर है। खैर, मैं नीचे कुछ पॉपुलर क्रिप्टोकरेन्सी ट्रेडिंग प्लेटफार्मों की लिस्ट दे रहा हूँ, आपको इनमें से जो भी प्लेटफॉर्म बेहतर लगे आप उसका उपयोग कर सकते है।

ट्रेडिंग के लिए Altcoin Wallet

बिटकॉइन को Altcoins (अन्य क्रिप्टोकरेंसी) के विरुद्ध ट्रेडिंग करने के लिए, आपको पहले एक Altcoin Wallet चाहिए। एक बिटकॉइन वॉलेट Ethereum को नहीं रख सकता है और ना ही दूसरे Altcoins को। कभी भी बिटकॉइन को Ethereum वॉलेट में न भेजें, यह सभी Wallets के लिए लागू होता है।

ध्यान दें, यह बहुत ही जरुरी है कि wallets को आपस में न मिलाया जाए, उन्हें एक दूसरे से अलग रखें। एक बिटकॉइन वॉलेट एथेरियम वॉलेट की तुलना में बिलकुल अलग तरीके से चलता है। इसलिए, यदि आप बिटकॉइन वॉलेट में altcoins भेजने की कोशिश करते हैं, तो यह विफल/fail हो जाएगा। लेकिन संयोग से अगर यह fail नहीं होता है और ट्रांसफर हो जाता है, तब भी आप इसे खो देंगे। जैसा कि मैंने पहले कहा था, ये लेनदेन reversible नहीं होते, इसलिए हमेशा सतर्क रहें।

नीचे मैं Altcoin Wallets की वेबसाइटों को लिस्ट कर रहा हूँ, आप इस वेबसाइटों पर अपना account बनाये और ट्रेडिंग के दौरान सम्बंधित क्रिप्टोकरेन्सी के Wallet Address का इस्तेमाल करें। ध्यान दें कि इनमें से प्रत्येक एक Secure Wallet हैं, इसलिए उनके Address और QR कोड को सुरक्षित स्थान पर रखने के लिए अत्यधिक सावधानी बरतें। सबसे सुरक्षित होने के लिए एक प्रिंट आउट लें कर रखें।

Ethereum Wallets:

Ripple Coin Wallets:

जैसा कि मैंने कहा इंटरनेट पर 4000 से भी अधिक क्रिप्टोकरेंसी मौजूद हैं और मैं उन सभी के बारे में यहाँ चर्चा नहीं कर सकता। इसके अलावा ऊपर लिस्ट में बताये गए Wallets एकमात्र विकल्प नहीं हैं, दूसरे और भी हैं। मैंने सिर्फ वही सर्वश्रेष्ठ वॉलेट्स को लिस्ट करने की कोशिश की जो सबसे पॉपुलर है। बाकी पूरा इंटरनेट पड़ा है आपके सामने, इंटरनेट पर खुद रिसर्च करें।

बिटकॉइन प्राइस हिस्ट्री, ग्राफ, चार्ट इत्यादि को चेक करें

एक बेहतर ट्रेडिंग बिज़नेस करने के लिए, यह बेहद महत्वपूर्ण है कि आप अपनी क्रिप्टोकरेन्सी की वृद्धि दर का ध्यान रखें। जितना अधिक आप उनका अध्ययन करेंगे, आपके लिए यह तय करना उतना ही आसान हो जाएगा कि आप उसे रोकें या बेच दें या उसका ट्रेडिंग करें।

नीचे मैं कुछ वेबसाइटों को लिस्ट कर रहा हूँ जो क्रिप्टोकरेन्सी दरों पर विस्तृत जानकारी प्रदान करते हैं।

Bitcoins के बारे में अधिक जानें:

क्या आपको लगता है कि आप ट्रेडिंग से पहले एक ब्लॉग पोस्ट पढ़कर बिटकॉइन के बारे में सब कुछ जान सकते हैं? नहीं। सीखने के लिए अभी बहुत कुछ हैं। नीचे मैं बिटकॉइन से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारियों की लिंक दे रहा हूँ जो आपको बिटकॉइन के बारे में अधिक जानने में मदद करेंगे

यदि आप वास्तव में बिटकॉइन ट्रेडिंग की दुनिया में कूदने में रुचि रखते हैं, तो क्रिप्टोकरेन्सी मार्केट के बारे में अपडेट रहना बहुत जरुरी है। अभी तक मैंने केवल तथ्यों के बारे में बात किया है, लेकिन आपको बिटकॉइन के बारे में समझने में सक्षम होने के लिए इससे अधिक जानने की आवश्यकता है। बिटकॉइन के बारे में लेटेस्ट न्यूज़ के साथ खुद को अपडेट रखे, ताकि आपकी ट्रेडिंग बेहतर हो सके

एक अच्छी आदत Google News वेबसाइट पर जाने और Bitcoins से संबंधित न्यूज़ के लिए एक नोटिफिकेशन सेट करने की है, यह आपकी मदद करेगा।

Conclusion

एक बार जब आप बिटकॉइन में निवेश करते हैं, तो पीछे मुड़कर नहीं देखा जाता है। आप अपनी राशि एक घंटे में दोगुना होने की उम्मीद नहीं कर सकते। इसे समय और धैर्य दें, पिछला रिकॉर्ड देखने के बाद बताने की जरुरत नहीं जल्द ही यह आसमान छूएगा।

उतार-चढ़ाव का ध्यानपूर्वक अध्ययन/रिसर्च करके क्रिप्टोकरेन्सी मार्केट को समझने की कोशिश करें। यदि आप अपने क्रिप्टोकरेन्सी की वैल्यू को नीचे गिरते हुए देखते हैं, तो इसे जल्दी से अन्य क्रिप्टोकरेन्सी में ट्रेडिंग करें। इस तरह से आप अपने पैसो को बचा लेंगे और कीमत घटने के कारण बाद में उसी क्रिप्टोकरेंसी को फिर से खरीद सकते हैं

उदाहरण के लिए, मान लें कि बिटकॉइन का मूल्य गिरना शुरू हो गया है, आप Ethereum के लिए अपने बिटकॉइन का ट्रेडिंग कर सकते हैं। डायरेक्ट Ethereum ना खरीदें, पहले बिटकॉइन का ग्रोथ रेट देखें। एक बार जब बिटकॉइन अच्छी मात्रा में गिर जाता है, तो यह फिर से बढ़ना शुरू कर देगा (इस तथ्य के कारण कि लोग दरों में कमी आने के बाद खरीदना शुरू कर देंगे)। वह पल एक सुनहरा पल है।

उसके बाद फिर से Bitcoins के लिए अपने Ethereum का ट्रेडिंग करें और आप उसी दर पर अधिक Bitcoins खरीद सकते हैं। देखा, आप कैसे लाभ कमा सकते हैं। कोशिश करें कि बिटकॉइन न बेचें। बल्कि उनसे ट्रेडिंग करें, आप लगातार मुनाफा कमाते रहेंगे

एक अंतिम सलाह यह है कि यदि आपने पहले ही निवेश कर रखा है, तो बिटकॉइन को बेचने की कोशिश न करेंअन्य क्रिप्टोकरेंसी के लिए इसका ट्रेडिंग करें, इसके साथ खेलें। यदि आप इसे बेचते हैं तो आपको पुरानी दरों पर बिटकॉइन खरीदने के लिए नहीं मिलेगा। बिटकॉइन के साथ काम करते समय इसे ध्यान में रखें।

इस पोस्ट को अत्यंत धैर्य के साथ पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद। मुझे आशा है कि मैं बिटकॉइन, क्रिप्टोकरेंसी और आपके सभी संबंधित प्रश्नों के बारे में आपके सभी संदेह को दूर करने में सक्षम हुआ। यदि आपके पास और प्रश्न हैं, तो नीचे कमेंट करने के लिए आपका स्वागत है। मुझे आपकी मदद करने में खुशी होगी। कृपया पेज को reload करें यदि आपको कमेंट बॉक्स न दिख रहा हो तो।

अपने दिमाग को ठंडा रखें और आज से ही सही, कमाना शुरू कर दें।🙂 और मैं आपसे अनुरोध करूंगा कि कृपया इस पोस्ट को अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर करें जो बिटकॉइन के बारे में जानने के लिए उत्सुक हैं। बिटकॉइन ट्रेडिंग में कूदने से पहले उन्हें इसके बारे में पूरी तरह से जानना होगा। यह पोस्ट उनके लिए मददगार हो सकती है। नीचे दिए गए सोशल शेयर बटन का उपयोग करें।

मुझे लगता है आज के लिए इतना ज्ञान काफ़ी है। मैं जल्द ही एक और रोमांचक अपडेट के साथ वापस आऊंगा। तब तक, Bitcoins की गिनती करते रहें। 😄 Happy Trading…

Sharing is Caring...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *