फ्लिपकार्ट सेलर कैसे बने? 2021 में फ्लिपकार्ट पर सामान बेचने की पूरी जानकारी

दोस्तों फ्लिपकार्ट सेलर कैसे बने या ऑनलाइन सामान कैसे बेचे यह आज हर किसी के दिमाग में एक बड़ा सवाल है। फ्लिपकार्ट वर्तमान में हर महीने 50 लाख से अधिक शिपमेंट भेजता है/प्रोडक्ट्स की डिलीवरी करता है, साथ ही वेबसाइट पर 80 लाख से भी ज्यादा daily page visit होते है। इसलिए फ्लिपकार्ट सेलर बनकर फ्लिपकार्ट पर सेल करने वालों के लिए बिजनेस का जबरदस्त मौका है। इस पोस्ट में, हम बात करने वाले हैं कि फ्लिपकार्ट सेलर कैसे बनें और फ्लिपकार्ट पर ऑनलाइन प्रोडक्ट सेल कैसे करे

flipkart seller kaise bane

Flipkart क्या है?

फ्लिपकार्ट एक ई-कॉमर्स कंपनी है जिसका मुख्यालय बैंगलोर, कर्नाटक में है। फ्लिपकार्ट को अक्टूबर 2007 में Indian Institute of Technology दिल्ली के IITan सचिन बंसल और बिन्नी बंसल द्वारा स्थापित किया गया था।

आज ई-कॉमर्स की दिग्गज कंपनी फ्लिपकार्ट अपनी साइट पर कई तरह के प्रोडक्ट्स बेचता है। लाखों ग्राहक होने के कारण, फ्लिपकार्ट विभिन्न प्रकार के प्रोडक्ट्स को बेचने के लिए सबसे अच्छे प्लेटफॉर्मो में से एक है। यदि आपके पास अपने प्रोडक्ट हैं या आप फ्लिपकार्ट जैसे विशाल मंच के माध्यम से कुछ प्रोडक्ट बेचना चाहते हैं तो आपको फ्लिपकार्ट के द्वारा बताये गए कुछ नियमों का पालन करना होगा।

फ्लिपकार्ट पर एक Individual या Sole Proprietor के रूप में अपना सामान कैसे बेचें?

जब कोई व्यक्ति/Individual अपने स्वयं के नाम से legally फ्लिपकार्ट पर कोई सामान बेचना चाहता है, इस प्रकार के व्यवसाय को एकल स्वामित्व/sole proprietorship कहते हैं और इस तरह के sole proprietorship में इसके प्रोमोटर को limited liability protection नहीं मिलते है।

इसलिए sole proprietorship जैसे बिज़नेस में कोई भी इन्वेस्टर या निवेशक नहीं हो सकते है, मालिकाना अधिकार को ट्रांसफर करने के लिए भी यह एक कठिन प्रक्रिया है, यहां तक ​​कि बैंक से लोन प्राप्त करना भी बहुत कठिन है।

इन सब के बावजूद यदि आप चाहते हैं कि आपका बिज़नेस फ्लिपकार्ट पर एक विक्रेता/सेलर बनकर सुचारू रूप से चल सके तो आपके पास sole proprietorship के रूप में फ्लिपकार्ट पर सेलर बनने का बहुत अच्छा विकल्प है जिसके लिए आपको कुछ डॉक्युमेंट्स जमा करने होंगे:-

Identity Proof

  • एक Printed Letterhead पर अपने हस्ताक्षर के साथ यह Declaration करना आनिवार्य है कि आप एक Individual के रूप में काम करते हैं और आपके बिज़नेस का बैंक अकाउंट स्वयं ही मैनेज करते हैं।
  • आपको Flipkart Payment Gateway पर अपने बैंक अकाउंट का स्टेटमेंट रजिस्टर करना होगा।
  • पैन कार्ड (Pan Card)
  • पासपोर्ट (Passport)
  • ड्राइविंग लाइसेंस (Driving Licence)
  • मतदाता पहचान पत्र (Voter ID Card)
  • कोई अन्य फोटो पहचान पत्र (Other Photo Identity Card)
  • किसी मान्यता प्राप्त पब्लिक ऑथोरिटी या गवर्नमेंट के किसी पब्लिक सर्वेंट द्वारा वेरीफाई किया गया कोई पहचान पत्र।

Address Proof

  • टेलीफोन बिल Fixed Landline (जो आपके बिज़नेस के नाम पर होना चाहिए)
  • राशन कार्ड
  • बिजली का बिल (जो आपके बिज़नेस के नाम पर होना चाहिए)
  • यदि आप पहले किसी कंपनी में काम करते हो तो उसका कोई लेटर
  • बैंक अकाउंट का स्टेटमेंट (जो आपके बिज़नेस के नाम पर होना चाहिए)
  • लीज या लाइसेंस एग्रीमेंट (Lease or Licence Agreement)
  • मान्यता प्राप्त पब्लिक ऑथोरिटी द्वारा जारी किया गया कोई प्रमाण पत्र या गवर्नमेंट के किसी पब्लिक सर्वेंट द्वारा वेरीफाई किया गया कोई पहचान पत्र।

फ्लिपकार्ट पर एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के रूप में अपना सामान कैसे बेचें?

जब आप फ्लिपकार्ट पर एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के रूप में किसी प्रोडक्ट को बेचते है, तब इसके प्रोमोटर को Limited Liability Protection मिलते है।

इसका फायदा यह है कि कंपनी में आप दूसरे इन्वेस्टर या निवेशक को जोड़कर कंपनी के मुनाफ़े को और ज्यादा बढ़ा सकते है। यहां तक कि मालिकाना अधिकार को ट्रांसफर करने के लिए भी एक सरल प्रक्रिया है। यह सबसे बेहतर तरीकों में से एक है, शुरू करने के लिए आपको बस कुछ डॉक्युमेंट्स जमा करने की आवश्यकता है।

Identity Proof

  • आपकी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के इंकॉर्पोरेशन की सर्टिफिकेट कॉपी
  • Memorandum of Association की कॉपी
  • कंपनी के नाम पर जारी किया गया पैन कार्ड

Address Proof

  • बिजली का बिल (आपकी कंपनी के नाम पर होना चाहिए)
  • टेलीफोन बिल Fixed Landline (आपकी कंपनी के नाम पर होना चाहिए)
  • लीज या लाइसेंस एग्रीमेंट (Lease or Licence Agreement)

फ्लिपकार्ट पर प्रोडक्ट की लिस्टिंग कैसे करें?

जब आप फ्लिपकार्ट पर अपना सामान बेचना चाहते हैं, तो फ्लिपकार्ट पर listing करना दूसरे ऑनलाइन मार्केटप्लेस की तुलना में आसान है। बता दें फ्लिपकार्ट की वेबसाइट पर आपकी सुविधा के लिए self-service portal उपलब्ध है।

फ्लिपकार्ट पर सामान बेचने के लिए आपके पास कम से कम दस प्रोडक्ट जरूर होने चाहिए। लिस्टिंग करने के लिए आप प्रोडक्ट की तस्वीरें, प्रोडक्ट की पूरी जानकारी, कीमत सबकुछ अपलोड करें। अंत में सबमिट करने से पहले अपने प्रोडक्ट की सही केटेगरी सेलेक्ट करें।

फ्लिपकार्ट पर प्रोडक्ट्स को मैनेज कैसे करें?

फ्लिपकार्ट सेलर रजिस्ट्रेशन के बाद आप अपने प्रोडक्ट्स को upload कर फ्लिपकार्ट पर बेचना शुरू कर सकते हैं। फ्लिपकार्ट सभी तरह की गतिविधियों को मैनेज करने के लिए एक डैशबोर्ड प्रदान करता है।

flipkart seller dashboard

फ्लिपकार्ट प्रोमोशन और एडवरटाइजिंग के साथ-साथ analytics support भी प्रदान करता है, जिससे आप यह जान पाएंगे कि कौन सा प्रोडक्ट कीमतों और ट्रेंड्स के मामले में अच्छा प्रदर्शन कर रहा है।

डैशबोर्ड के माध्यम से आप अपने सभी प्रोडक्ट्स के details को बदल सकते है, उदाहरण के लिए – price, description, images इत्यादि।

फ्लिपकार्ट द्वारा प्रोडक्ट की शिपिंग कैसे करें?

फ्लिपकार्ट seller account शुरू करने के साथ ही आपको शिपिंग और लॉजिस्टिक्स सपोर्ट का लाभ मिलने लगेगा। फ्लिपकार्ट ने कुछ courier कंपनियों के साथ टाई-अप किया है जो आपसे पार्सल उठाकर पूरे भारत में डिलीवरी करेंगे।

जब आपको कोई आर्डर मिलेगा, तब एक सेलर के रूप में आपकी जिम्मेदारी है कि प्रोडक्ट को पैक करके, पर्ची/invoice लगाकर उसे शिपमेंट के लिए तैयार करना। फिर डिलीवरी पार्टनर प्रोडक्ट को आपसे कलेक्ट करते है और आगे प्रोसेस करते है।

कृपया ध्यान दें: फ्लिपकार्ट पैकिंग मटेरियल मुफ्त प्रदान नहीं करता है, आप चाहे तो फ्लिपकार्ट से खरीद सकते है या आप अपने लोकल बाजार से पैकिंग मटेरियल का प्रबंधन कर सकते है। फ्लिपकार्ट पर सामान बेचना और डिलीवरी करना बहुत आसान है क्योंकि उनके पास पूरे देशभर में 200 पिकअप हब और 10,000 डिलीवरी कर्मचारी हैं।

Flipkart पर प्रोडक्ट शिपिंग के प्रकार:

1. Flipkart Standard Delivery

फ्लिपकार्ट स्टैण्डर्ड डिलीवरी प्रक्रिया वह है जिसमें फ्लिपकार्ट प्रोडक्ट्स की स्टॉकिंग और ऑर्डर प्रोसेस/निष्पादन का ध्यान रखता है। सेलर फ्लिपकार्ट को प्रोडक्ट्स की आपूर्ति करते हैं और यह सुनिश्चित करते हैं कि वेबसाइट के प्रोडक्ट्स पेज पर दिखाया जा रहा प्रोडक्ट वही है या नहीं।

2. Flipkart Advantage/Assure

फ्लिपकार्ट एडवांटेज में 24 घंटे के अंदर शिपिंग और 30 दिनों तक डिलीवरी रिटर्न पॉलिसी या रिफंड किया जाता है। स्टैण्डर्ड डिलीवरी प्रोसेस वह है जिसमें सेलर प्रोडक्ट का स्टॉक करता है और प्रोडक्ट को पैक करके ऑर्डर की प्रक्रिया को पूरा करता है, जिसके बाद फ्लिपकार्ट की लॉजिस्टिक विंग, पिकअप और डिलीवरी का ध्यान रखती है। इस तरह की प्रक्रिया 45 दिनों की रिफंड और रिप्लेसमेंट पॉलिसी को वहन करती है।

फ्लिपकार्ट पर ऑर्डर की पूर्ति कैसे करें?

इसमें नए ऑर्डर प्राप्त करना और अपने प्रोडक्ट को उनके गंतव्य पर भेजना शामिल है। इसमें कुछ स्टेप्स शामिल हैं जो नीचे दिए गए हैं: –

  • एक खरीदार से नए आर्डर प्राप्त करना और उसे कन्फर्म करना।
  • शिपमेंट लेबल/चालान की पर्ची लगाकर उस आर्डर को पैक करना और उसे डिस्पैच के लिए तैयार रखना।
  • उस आर्डर को फ्लिपकार्ट के पोर्टल पर “Ready to dispatch” बनाकर रखना।
  • Manifest को डाउनलोड करना, यह गारंटी देने के लिए कि आप शिपमेंट को पिकअप के दौरान फ्लिपकार्ट के manifest के अनुसार ही शिपमेंट किया है।

नए सेलर्स Tier 2 सेलर्स के रूप में फ्लिपकार्ट पर बेचना शुरू कर सकते हैं। एक महीने तक काम करने के बाद और 30 ट्रांसक्शन को पूरा करने पर वे Tier 1 सेलर्स पर जा सकते हैं। कस्टमर कंप्लेन सेटलमेंट रेट की स्थिति भी आपकी पोजीशन निर्धारित करता है और यदि कोई Tier 1 सेलर डिफॉल्ट करता है तो उसे Tier 2 में डाउनग्रेड किया जा सकता है।

Tier 1 सेलर्स को डिस्पैच से 5 दिनों के भीतर पेमेंट मिलता है, जबकि Tier 2 सेलर्स को डिस्पैच के 10 दिनों के बाद पेमेंट मिलता है। किसी भी मामले में, सेलर्स को आर्डर की पूर्ति के लिए नियमों का पालन करना होगा।

फ्लिपकार्ट पर प्रोडक्ट की Fulfillment वेबसाइट पर डिस्प्ले किये जा रहे प्रकार/टाइप के सिलेक्शन पर निर्भर करती है। फ्लिपकार्ट अपने Advantage प्रोग्राम में सेलर्स से प्रोडक्ट प्राप्त करने के बाद उसे बेचता है। स्टैण्डर्ड डिलीवरी मोड में एक सेलर को फ्लिपकार्ट के पैकिंग मैटेरियल्स का उपयोग करके प्रोडक्ट को पैक करके, Invoice पर्ची लगाकर डिस्पैच के लिए तैयार रखना चाहिए।

फ्लिपकार्ट पर ऑर्डर का पेमेंट कैसे प्राप्त करें?

बेचे गए प्रोडक्ट का पेमेंट फ्लिपकार्ट द्वारा कलेक्ट किया जाता है और बिक्री होने के सात दिनों के भीतर सेलर को ट्रांसफर कर दिया जाता है। फ्लिपकार्ट प्रत्येक बिक्री पर एक छोटा कमीशन लेता है

फ्लिपकार्ट पर प्रोडक्ट सेल करने के चार्जेज:

  • फ्लिपकार्ट प्रत्येक बिक्री पर प्रोडक्ट की मूल्य के प्रतिशत के आधार पर एक छोटा कमीशन लेता है।
  • शिपिंग शुल्क सेलर द्वारा भुगतान/पेमेंट किया जाना है।
  • सेलर अपनी कीमत में शिपिंग शुल्क जोड़ सकता है या इसे शामिल कर सकता है।
  • फ्लिपकार्ट एक कलेक्शन फी भी लेता है और यह पेमेंट के तरीके पर निर्भर करता है जैसे कि प्रीपेड या कैश ऑन डिलीवरी।
  • फ्लिपकार्ट ऑर्डर वैल्यू के स्लैब के आधार पर एक Fixed fee भी लेता है।

उदाहरण के लिए, यदि आप 2000 रुपये किसी प्रोडक्ट का कीमत रखते हैं, तो आपको कमीशन के लिए लगभग 10%, शिपिंग के लिए 35 रुपये, कलेक्शन फी के लिए 30-50 रुपये, 40 रुपये Fixed fee और GST की भी कटौती होगी।

अपने आप से पूछें कि क्या मैं फ्लिपकार्ट पर अपना प्रोडक्ट बेचना चाहता हूँ क्योंकि उनके चार्जेज इतने अधिक हो सकते हैं? दूसरी ओर, आप लाखों संभावित खरीदारों तक पहुंचते हैं और यहां तक ​​कि अगर कटौती होती है, तो वे इसके लायक हैं।

कूरियर वालो की गलती के कारण या धोखाधड़ी की नियत से कस्टमर क्लेम्स के कारण फ्लिपकार्ट के पास सेलर प्रोटेक्शन प्रोग्राम है, जो प्रोडक्ट आने-जाने में खो जाते हैं या क्षतिग्रस्त हो जाते हैं उनकी भरपाई फ्लिपकार्ट करती है। फ्लिपकार्ट पर प्रोडक्ट्स को बिना संकोच के मन की शांति के साथ बेचें क्योंकि अगर ग्राहक क्षतिग्रस्त स्थिति में प्रोडक्ट्स को वापस करते हैं, तो फ्लिपकार्ट सेलर को उसका हर्जाना चुकाता है।

फ्लिपकार्ट का एक अन्य लाभ “फ्लिपकार्ट फंडिंग एसोसिएट्स” हैं जो उचित दरों पर फंडिंग की पेशकश करते हैं ताकि आप अपनी इन्वेंट्री में अधिक प्रोडक्ट्स को स्टॉक कर सकें। फ्लिपकार्ट अपने पोर्टल पर बिक्री करने के तरीकों के बारे में भी प्रशिक्षण प्रदान करता है और कोई भी व्यक्ति इसे ऑनलाइन ही सीख सकता है।

फ्लिपकार्ट की रिटर्न पॉलिसी

फ्लिपकार्ट की अच्छी चीजों में से एक यह है कि फ्लिपकार्ट की प्रोडक्ट रिटर्न पॉलिसी इतना बेहतर है जिसमें ग्राहक किसी भी प्रोडक्ट को वापस कर सकते हैं भले ही उसमें कोई समस्या न हो, लेकिन यह सेलर के लिए अतिरिक्त लागत को बढ़ा सकता है।

हालांकि, यदि किसी कारण से प्रोडक्ट को वापस कर दिया जाता है, तो फ्लिपकार्ट सेलर से किसी भी शिपिंग लागत के लिए शुल्क नहीं लेता है और यदि प्रोडक्ट आने-जाने में क्षतिग्रस्त हो जाता है तो वे प्रोडक्ट की लागत भी वहन करते हैं। हालाँकि, प्रोडक्ट का एक्सचेंज आपको रिवर्स शिपिंग शुल्क के लिए उत्तरदायी नहीं बनाता है। यदि कोई ग्राहक प्रोडक्ट को एक्सचेंज करने के लिए कहता है तो उसके लिए आपको दोबारा से फ्लिपकार्ट को शिपिंग शुल्क नहीं देना है।

फ्लिपकार्ट पर प्रोडक्ट्स का प्रचार/प्रोमोशन कैसे करें?

फ्लिपकार्ट पर अपने प्रोडक्ट्स की बिक्री को बढ़ाने के लिए आप कुछ युक्तियों और तकनीक लागू कर सकते हैं। जो इस प्रकार हैं:

  • Product Listing Advertisements (PLAS) का उपयोग करें जो आपको चुनिंदा प्रोडक्ट्स पेज में विशेष रुप से Featured प्रोडक्ट बनने में मदद करेगा।
  • Flipkart Advantage Seller बनने के लिए रजिस्ट्रेशन करें। इसके साथ, आपको बस अपने प्रोडक्ट्स को फ्लिपकार्ट के साथ स्टॉक करना है। वे अपने पूर्ति केंद्रों का उपयोग इसे गोदाम में रखने, पैकेज करने, वितरित करने और यहां तक ​​कि रिटर्न को संभालने के लिए करेंगे।
  • Spike sales में भाग लें। फ्लिपकार्ट की स्पाइक सेल्स बहुत ज्यादा ध्यान आकर्षित करने के लिए प्रसिद्ध है, लेकिन इसका मतलब यह भी है कि आपको अपनी कीमतें कम करनी होंगी जो आपके मार्जिन को प्रभावित कर सकती हैं, लेकिन इसका मतलब बहुत सारे ऑर्डर हो सकते हैं।
  • अपनी लिस्टिंग पर Targeted ट्रैफ़िक लाने के लिए Google Ads और Facebook Ads का उपयोग करें। यदि आप ऐसा नहीं कर सकते हैं, तो आपको बहुत से लोग मिल जाएंगे जो इसे आपके लिए बहुत ही सस्ते दाम में कर सकते हैं।
  • Reviews पर नज़र रखें, बेहतर reviews का अर्थ है आपके यूज़र्स के लिए बेहतर सोशल प्रूफ। नकारात्मक reviews को सावधानी से संभालें और लोगों से आपको सकारात्मक रिव्यु देने का आग्रह करने का प्रयास करें। आप अपने ग्राहकों को पूरी तरह से प्रसन्न करके ही ऐसा कर सकते हैं।

GST और टैक्स पॉलिसी

जीएसटी संशोधन ने ऑनलाइन सेलर्स और मार्केटप्लेस के लिए महत्वपूर्ण बदलाव लाए। फ्लिपकार्ट जैसे ईकॉमर्स प्लेटफॉर्म को सोर्स पर कलेक्ट किए गए 1 प्रतिशत टैक्स में कटौती करनी चाहिए यदि वह अपने सप्लायर को पेमेंट कर रहा है या फ्लिपकार्ट द्वारा सरकार के साथ सेलर की GST देयता के रूप में जमा किया गया है।

फ्लिपकार्ट द्वारा टैक्स कलेक्टेड एट सोर्स (TCS) को फ्लिपकार्ट सेलर द्वारा GST मासिक रिटर्न दिखा कर क्रेडिट के रूप में दावा किया जा सकता है।

अपने प्रदर्शन का विश्लेषण करें

फ्लिपकार्ट ने Seller Hub के नाम से सेलर्स के लिए एक मोबाइल ऐप लॉन्च किया है। यह ऑर्डर, पेमेंट, लिस्टिंग, ऑर्डर की पूर्ति, रिटर्न आदि पर Real-Time डेटा प्रदान करता है। ऐप को Google Play Store या iOS App Store से डाउनलोड किया जा सकता है।

फ्लिपकार्ट के पास सेलर एनालिटिक्स के लिए अपना डैशबोर्ड भी है जो उन्हें विभिन्न sell point metrics को अलग-अलग करने में मदद करता है। आप किसी विशेष अवधि में डेटा की एनालिसिस कर सकते हैं, इसे ऑफ़लाइन देखने के लिए डेटा ग्राफ़ डाउनलोड कर सकते हैं, रिटर्न ऑर्डर, ट्रेंड और बहुत कुछ समझ सकते हैं।

डैशबोर्ड का उपयोग आपकी सेल्स ट्रेंड में पैटर्न की पहचान करने के लिए किया जा सकता है, और यह आपको सबसे अधिक बिकने वाले शहरों, प्रोडक्ट्स आदि की पहचान करने में मदद करता है।

Conclusion

फ्लिपकार्ट पर बिक्री शुरू करने के लिए आपको बस इतना ही जानना होगा। बेशक, आप रास्ते में बारीकियों, आश्चर्य और चुनौतियों का सामना करेंगे, लेकिन वे इस पोस्ट के दायरे से बाहर हैं। इसके अलावा, मुझे विश्वास है कि आप रास्ते में उनका पता लगा लेंगे। यदि आप इसके साथ अमेज़न पर भी सेल करना चाहते है तो इस पोस्ट को पढ़े। फ्लिपकार्ट पर बिक्री का आपका अनुभव कैसा था? हमें नीचे कमेंट्स में जरूर बताएं।

Sharing is Caring...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *