5 जरुरी बातें जो आपको लोन लेने से पहले जरूर जानने चाहिए

आज के इस ब्लॉग पोस्ट 5 Important Things to Know Before taking Personal Loan में आपको कुछ ऐसी बाते बताऊंगा जिन्हें आपको लोन लेने से पहले ध्यान में जरुर रखना चाहिए। अगर आप इसे याद रखते है तो कभी भी कर्ज के जाल में नही फंसेंगे और ना ही आपको अपना बजट गड़बड़ाता हुआ महसूस होगा।

आज हर व्यक्ति को कभी न कभी किसी कारण से लोन लेने की जरुरत पड़ती ही है, जरुरत के हिसाब से लोन छोटा या बड़ा हो सकता है। उदाहरण के लिए घर या गाड़ी खरीदते समय हमें बैंक से लोन लेने की जरुरत पड़ती है और इसी तरह अचानक किसी बड़े खर्च के आ जाने पर हम अपने दोस्त, रिश्तेदार या ऑफिस में साथ काम करने वाले व्यक्ति से पैसे उधार लेते है।

वरना बड़े खर्चे का भुगतान हम क्रेडिट कार्ड से करके उसको अपनी सुविधा के अनुसार आने वाले समय में चुकाते है EMI के तौर पर। इस तरह से लोन छोटा हो या बड़ा, आजकल इसकी जरुरत हर किसी को समय-समय पर पड़ती रहती है।

5 Important Things to Know Before taking Personal Loan

5 Important Things to Know Before taking Personal Loan

रिपेमेंट कैपेसिटी के हिसाब से लोन ले, कर्ज़ किसी भी तरह से लीजिये इतना ध्यान जरुर रखिये कि लोन की रकम उतनी ही होनी चाहिए जितना कि आप उसका भुगतान कर सके, यानि कि कर्ज़ चुकाने के हिसाब से होना चाहिए। अपनी रेगुलर इनकम से पैसा बचाकर आप लोन की रकम एक निश्चित समय में चुका पाने में सक्षम होने चाहिए।

आपके कुल कर्ज़ की मासिक किश्त आपकी मासिक आय के 15% से ज्यादा नही होने चाहिए। उदाहरण के लिए अगर आप 40 हजार रुपये महीना कमाते है तो आपके सभी तरह के कर्ज़ की EMI 6 हजार रुपये से ज्यादा नहीं होने चाहिए, इससे ज्यादा EMI होने पर आपके भविष्य की प्लानिंग या महीने का बजट पर इसका प्रभाव पड़ सकता है।

EMI सही समय पर दीजिये

इस बात का जरुर ध्यान रखिये कि कर्ज़ चाहे छोटे समय के लिए हो जैसे क्रेडिट कार्ड का बिल या फिर लम्बे समय के लिए हो जैसे होम लोन, भुगतान आप हमेशा समय पर ही कीजिये।

अगर आप एक भी किश्त देने से चूक जाते है या फिर भुगतान करने में देरी करते है तो इसका असर सीधे आपके क्रेडिट प्रोफाइल पर पड़ता है जिसकी वजह से भविष्य में लोन पाने के लिए आपको काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

लोन हमेशा कम समय के लिए ले

लोन चुकाने का समय जितना लम्बा होता है उतना ही ज्यादा इंटरेस्ट रेट बैंक आपसे वसूलते है क्योंकि यही तो उनका बिज़नेस है। लोन चुकाने का समय जितना छोटा होता है उतना ही आपके लिए फायदेमंद होता है और लोन चुकाने का समय बढ़ने पर आपकी मासिक EMI तो कम हो जाती है लेकिन कुल लोन की राशि बढ़ जाती है।

मान लीजिये राम ने 50 लाख का लोन 20 सालो के लिए लिया है तो इसमें उसकी मासिक EMI 48,251 रुपये होगी, अगर वो अपनी EMI 5% सालाना के दर से बढ़ा दे तो ये लोन 12 साल में पूरा हो सकता है।

वही EMI 10% के दर से सालाना बढ़ा देने पर लोन 9 साल 3 महीने में ख़त्म हो सकता है तो लोन का समय बढ़ने पर आपकी EMI तो कम हो जाती है लेकिन आपका कुल लोन का अमाउंट बढ़ जाता है क्योंकि आप उसको लम्बे समय तक धीरे-धीरे चुकाते है।

फिज़ूल खर्च या निवेश करने के लिए लोन कभी नही लेने चाहिए

कहीं इन्वेस्ट या निवेश करने के लिए लोन कभी मत लीजिये, कन्फर्म रिटर्न देने वाले निवेश जैसे फिक्स्ड डिपाजिट, बॉन्ड कभी भी लोन पर दिए जाने वाले ब्याज की बराबरी नही कर सकते।

इक्विटी शेयरों में निवेश बहुत ही जोखिम भरा होता है, अपने खर्चो को पूरा करने के लिए कभी लोन नही लेने चाहिए क्योंकि इससे आपको बाद में पछताना पड़ सकता है।

अपने फ्यूचर प्लान को कभी प्रभावित न करे

आसान शब्दों में समझे तो कभी भी अपने बच्चो की पढ़ाई या शादी के लिए रिटायरमेंट फंड का इस्तेमाल नही करना चाहिए। पढ़ाई के लिए लोन और स्कालरशिप जैसे विकल्प मौजूद है जिनमे पढ़ाई का खर्च शामिल होता है।

लेकिन मार्किट में ऐसा कोई भी आकर्षक प्रोडक्ट नही है जिसके जरिये आप अपने रिटायरमेंट की जरूरतों को पूरा कर सके तो इसीलिए ध्यान रखिये कि रिटायरमेंट योजना भी बच्चो की पढ़ाई जितनी ही जरुरी होती है।

एक अच्छी फाइनेंसियल प्लानिंग की खासियत ये होती है कि एक जरूरत को पूरा करने के लिए दूसरी जरुरी चीज के प्लान को प्रभावी नही करना चाहिए।

कोशिश करे एक ही जगह से लोन लेने की

अगर आपने एक से ज्यादा लोन ले रखे है और ये सब अलग-अलग बैंक या फाइनेंसियल कंपनी से है तो आपको कोशिश करनी चाहिए कि इन सभी को एक ही बैंक या फाइनेंसियल कंपनी में ट्रान्सफर करवा ले। लोन की रकम एक जगह हो जाने पर बैंक आपको बैलेंस ट्रान्सफर जैसे सुविधा के अंतर्गत आकर्षक ब्याज दरे ऑफर करते है।

ऐसा करने से आप पर EMI का बोझ कम हो जायेगा साथ ही समय-समय पर मिलने वाली एक्स्ट्रा इनकम का भी इस्तेमाल आप कर्ज़ चुकाने के लिए कर सकते है। अगर आपका नौकरी पेशा है, जॉब करते है तो कंपनी में बोनस मिलने पर इन्क्रीमेंट या इंसेंटिव हाथ आने पर आपको आपने कर्ज़ का भुगतान कर देना चाहिए।

इन्शुरन्स जरुर ले बड़े लोन के साथ

अगर आप होम लोन या कार लोन जैसे बड़े लोन लेते है तो साथ में इन्शुरन्स लेना नही भूलना चाहिए। जैसे कि लोन की रकम का Term Plan ले लीजिये, ऐसा इसीलिए क्योंकि अगर आपको कुछ हो जाता है और आप पर आश्रित (Dependent) लोग अगर EMI नही चुका पाते है तो लोन देने वाला बैंक या फाइनेंसियल कंपनी आपके Asset से ले लेता है। टर्म प्लान ले लेने से आपकी गैरहाजरी में घरवालो को आर्थिक तंगी से नही जूझना पड़ेगा।

लोन से जुड़ी शर्ते (Terms and Conditions) जरुर पढ़े

किसी भी अनहोनी से बचने के लिए लोन लेने से पहले नियम और शर्ते जरुर पढ़नी चाहिए, अगर आप कानूनी दस्तावेज का मतलब नही समझ पा रहे है तो किसी फाइनेंसियल जानकार की मदद लीजिये।

खरीदारी करते समय कीमतों की तुलना अवश्य करे

अगर आप कर्ज़ लेकर कोई प्रॉपर्टी खरीद रहे है तो मार्केट में कीमतों की तुलना जरुर कीजिये, सही डील मिलने पर हो सकता है कि आपको कम Amount का ही लोन लेना पड़े। लोन का अमाउंट जितना कम होगा लोन लेने वाले के लिए उतना ही अच्छा होगा।

5 Important Things to Know Before taking Personal Loan इस पोस्ट से सम्बंधित प्रश्न पूछने के लिए आप नीचे कमेंट कर सकते है और ऐसी ही रोचक जानकारी के लिए इस ब्लॉग को बुकमार्क कर लीजिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *