क्या है Digilocker? कैसे इस्तेमाल करे

आज के ब्लॉग-पोस्ट (What is Digilocker in Hindi) में इसी के बारे में बात करने वाले है कि कैसे आप Digilocker Mobile app का इस्तेमाल कर बहुत सारे परेशानियों से बच सकते है।

कभी-कभी आप अपना ड्राइविंग लाइसेंस या फिर गाड़ी की RC Book घर पर भूल जाते है और ट्रैफिक पुलिस आपका चालान काट देते है, उसमे आपको काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

What is Digilocker in Hindi

लेकिन अब आपको ऐसी परिस्थिति में परेशान होने की जरुरत नही है क्योंकि अगर आपके पास ड्राइविंग लाइसेंस या फिर RC की हार्ड कॉपी नही है तो भी पुलिस आपका चालान नही काट सकती है।

अगर आपको कभी सड़क पर ट्रैफिक पुलिस द्वारा रोका जाता है और उस वक़्त आपके पास गाड़ी के डाक्यूमेंट्स या ड्राइविंग लाइसेंस की हार्ड कॉपी नही है तो आप उसकी सॉफ्ट कॉपी दिखाकर भी चालान काटने से रोक सकते है, लेकिन इसके लिए एक Condition है।

Condition ये है कि जो सॉफ्ट कॉपी या फोटोकॉपी है वो आपके डिजिलॉकर मोबाइल एप्प में होनी चाहिए। पुलिस डिजिलॉकर में आपके उस डॉक्यूमेंट को देखकर वेरीफाई करेगी और आपका चालान कटने से बच जायेगा।

Digilocker यह डिजिटल इंडिया स्कीम के तहत गवर्नमेंट ऑफ़ इंडिया की लॉन्च की हुई एक मोबाइल एप्प है जो एंड्राइड और iPhone दोनों पर उपलब्ध है।

How to use Digilocker

आइये जान लेते है डिजिलॉकर का इस्तेमाल कैसे करना है, कैसे इसे डाउनलोड करना है, इसमें अकाउंट बनाना है और कैसे इसमें डाक्यूमेंट्स को अपलोड करना है Step by Step.

What is Digilocker in Hindi

Digilocker को आप दो तरीको से Access कर सकते है

आजकल मोबाइल एप्प ज्यादा प्रचलन में है तो हम मोबाइल एप्प पर ही इसको समझेंगे।

अगर आप Andriod मोबाइल फोन इस्तेमाल करते है तो आप Google Play Store में जाकर इसको डाउनलोड कर सकते है और अगर आप iPhone इस्तेमाल करते है तो Apple App Store में जाकर इसको डाउनलोड कर सकते है।

इसको डाउनलोड करने के बाद आपको सबसे पहले Signup करना होता है यानि अपना एक Digilocker Username और Digilocker sign in password बनाना होता है। इसके लिए आपको तीन चीजो की जरुरत होती है, पहला आपका मोबाइल नंबर और दूसरा आपका आधार नंबर और तीसरा आपका ईमेल आईडी।

आप जैसे ही अपना मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी डालते है तो आपके मोबाइल और ईमेल पर एक OTP आता है, आपको वो OTP रजिस्ट्रेशन फॉर्म में डालने के बाद Next करना होता है, उसके बाद आपको अपना आधार नंबर डालना होता है।

What is Digilocker in Hindi

आधार नंबर को वेरीफाई करने के लिए आपको दो आप्शन मिलते है पहला तो आप उसको OTP के द्वारा वेरीफाई कर सकते है या फिर आप उसको बायोमेट्रिक स्कैन के द्वारा वेरीफाई कर सकते है। जैसे भी सुविधा हो आप उसको वेरीफाई करे और वेरीफाई करने के बाद आपका जो अकाउंट है वो सक्सेसफुल एक्टिवेट हो जाता है।

गवर्नमेंट ऑफ़ इंडिया ने डिजिलॉकर को लॉन्च किया है उसका सिर्फ एक ही मकसद है कि जो फिजिकल डॉक्यूमेंट है या हार्ड कॉपी है, उनके लेनदेन को कम किया जाये और e-Documents के लेनदेन को बढ़ावा दिया जाये।

What is Digilocker in Hindi

आप डिजिलॉकर में अपने सभी डॉक्यूमेंट जिनके कहीं न कहीं वेरिफिकेशन की जरुरत पड़ती है जैसे कि आपके एजुकेशनल सर्टिफिकेट्स या फिर आपका पासपोर्ट, आधार कार्ड, पैन कार्ड, बर्थ सर्टिफिकेट या कोई भी सरकारी/गैर-सरकारी डॉक्यूमेंट जो आपके पास है।

जिसकी कहीं न कहीं सरकारी ऑफिस में या प्राइवेट सेक्टर में वेरिफिकेशन की जरुरत पड़ती है, आप उन सभी डाक्यूमेंट्स को स्कैन करके अपने इस डिजिलॉकर में Save रख सकते है।

फिर आप कहीं गाड़ी लेकर निकले और आपके पास अगर ड्राइविंग लाइसेंस या RC की हार्ड कॉपी नही है तो आप इस सॉफ्ट कॉपी को दिखा सकते है इससे आपका चालान नही कटेगा।

What is Digilocker in Hindi

गवर्नमेंट ऑफ़ इंडिया ने पहले ही ड्राइविंग लाइसेंस रखने की जो अनिवार्यता थी उसे ख़त्म कर दिया है, अब आपको उसकी हार्ड कॉपी रखने की बिलकुल जरुरत नही है।

कुछ पुलिस वाले ऐसे भी होते है जिनको डिजिलॉकर के बारे में अभी तक कुछ पता नही है तो हो सकता है कि वो आपके इस सॉफ्ट कॉपी को Accept ना करे ऐसे में आपको वहां एक काम करना है, आपको उनसे ये लिखवाना है कि डिजिलॉकर के अंदर जो ड्राइविंग लाइसेंस या RC की सॉफ्ट कॉपी है वे उसको Accept नही कर रहे है, उसको नही मान रहे है।

पहली बात तो वे उसको लिखेंगे नही और मान लीजिये अगर वो ऐसा लिख देते है तो आप उसकी शिकायत कर सकते है जहाँ पर चालान जमा करेंगे या फिर आप उसकी शिकायत कर सकते है सीधे पुलिस स्टेशन में।

डिजिलॉकर में आप PDF, JPEG, JPG, GIF और भी कई सारे फॉर्मेट में अपने डाक्यूमेंट्स को अपलोड कर सकते है। इसके लिए आपको जरुरत पड़ेगी एक स्कैनर की अगर आपके पास स्कैनर नही है तो आप किसी भी साइबर कैफ़े में जाकर कुछ पैसे देकर अपने सारे डाक्यूमेंट्स को स्कैन करा सकते है।

उसके बाद आप उसे अपने मोबाइल के द्वारा अपने डिजिलॉकर में अपलोड कर दीजिये, इसके बाद आप उसे कहीं भी इस्तेमाल कर सकते है। 

वैसे डिजिटल लॉकर के नाम से प्ले स्टोर पर बहुत सारे फालतू एप्प भी है इसीलिए आपको यही एप्प जो गवर्नमेंट ऑफ़ इंडिया का ऑफिसियल एप्लीकेशन है उसे डाउनलोड करना है।

how to use digilocker in hindi

आपको डिजिलॉकर के एप्प में तीन ऑप्शन मिलेंगे Dashboard, Issued और Uploaded. पहला तो इसका Dashboard है जो कि आपको पता है, अगर आप Issued पर क्लिक करते है तो यहाँ वो सारे डाक्यूमेंट्स Show होंगे जो आधार कार्ड से Linked है।

उदाहरण के लिए अगर आपके पास ड्राइविंग लाइसेंस है और वो ड्राइविंग लाइसेंस आधार कार्ड से लिंक है तो आपका ड्राइविंग लाइसेंस Issued सेक्शन में Show होगा। जितने भी आपके डॉक्युमेंट्स आधार से Linked है वो सारे यहाँ दिखेंगे। इसी तरह से तीसरा ऑप्शन है Uploaded का, आपके जो डॉक्यूमेंट Issued में Show नहीं होते है उसे आप यहाँ Upload कर सकते है।

डिजिटल लॉकर में आप PDF, JPEG, JPG, GIF और भी कई सारे फॉर्मेट में अपने डाक्यूमेंट्स को अपलोड कर सकते है और उन्हें आप Digitally eSign भी कर सकते है। इसका मतलब होता है Self-Attested Document, इसके लिए आपको File Upload करने के बाद उसे क्लिक करना है और eSign का Option मिल जायेगा उसे क्लिक करे।

आपके मोबाइल नंबर पर एक OTP भेजा जाता है उसे यहाँ डालने के बाद आपके डॉक्यूमेंट Successfully eSign हो जाते है यानि Self Attested हो जाते है, अब इसको आप कहीं पर भी शेयर कर सकते है। अगर आप किसी दूसरे मोबाइल में या कंप्यूटर में Digilocker में Sign-in करते है तो आपके वो सारे डाक्यूमेंट्स वहां मिलेंगे जो आपके अकाउंट में Save है।

इस ब्लॉग-पोस्ट में आपने जाना कि Digilocker का कैसे इस्तेमाल कर सकते है, कैसे इसमें आप डाक्यूमेंट्स को अपलोड कर सकते है और कैसे इसको वेरीफाई करा सकते है। कोई सवाल या सुझाव है तो बेशक कमेंट कर सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *